"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

शुक्रवार, 29 सितंबर 2017

जन्मदिवस का गीत "तीस सितम्बर" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')


एक साल में एक बार जब,
तीस सितम्बर आता है।
आज तुम्हारे जन्मदिवस को,

घर-परिवार मनाता है।।

अमर भारती नाम तुम्हारा,
सारे जग से न्यारी हो।
सहनशीलता की मूरत तुम,
तुम सुवास की क्यारी हो।
मेरा और तुम्हारा सजनी,
जन्म-जन्म का नाता है।
आज तुम्हारे जन्मदिवस को,

घर-परिवार मनाता है।।

तुमसे ही बेटे-पोतों की,
चहक रही फुलवारी है।
नेह-सुधा के आशीषों से,
फलती दुनियादारी है।
मीठा सुर-सुरमयी साँझ में,
कलरव सा कर जाता है।।
आज तुम्हारे जन्मदिवस को,

घर-परिवार मनाता है।।

माना यौवन नहीं रहा अब,
लेकिन मतवाला मन है।
इस दुनिया की अमराई में,
तुमसे ही तो जीवन है।
कई दशक का साथ तुम्हारा,
निशदिन मोह जगाता है।।
आज तुम्हारे जन्मदिवस को,

घर-परिवार मनाता है।।

अपने श्रम से घर-आँगन को,
मैं खुशियों से भरता हूँ।
स्वस्थ रहो, प्रसन्न रहो तुम
यही कामना करता हूँ।
मुझको छोटी सी कुटिया में,
साथ तुम्हारा भाता है।
आज तुम्हारे जन्मदिवस को,

घर-परिवार मनाता है।।



3 टिप्‍पणियां:

  1. bahut sundar rachna, amar bharti ji ko janm divas ki mangal kamnaye

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत बहुत शुभकामनाएं आदरणीय अमर भारती जी को और पूरे परिवार को भी।

    उत्तर देंहटाएं
  3. अमर भारती जी का जन्मदिन आप सब को बहुत बहुत मुबारक हो । । हम उनके सुंदर, सुखद,स्वस्थ, समृद्ध और दीर्घायुष्य जीवन की मंगलकामना करते हैं।

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails