"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

गुरुवार, 7 मई 2009

‘‘स्वागत-गीत’’ (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

लगभग 24 वर्ष पूर्व मैंने एक स्वागत गीत लिखा था।
इसकी लोक-प्रियता का आभास मुझे तब हुआ, जब खटीमा ही नही
इसके समीपवर्ती क्षेत्र के विद्यालयों में भी इसको विशेष अवसरों पर गाया जाने लगा।
आप भी देखे-
स्वागतम आपका कर रहा हर सुमन। 
आप आये यहाँ आपको शत नमन।। 

भक्त को मिल गये देव बिन जाप से, 
धन्य शिक्षा-सदन हो गया आपसे, 
आपके साथ आया सुगन्धित पवन। 
आप आये यहाँ आपको शत नमन।।

हमको सुर, तान, लय का नही ज्ञान है, 
गल्तियाँ हों क्षमा हम तो अज्ञान हैं, 
आपका आगमन, धन्य शुभ आगमन। 
आप आये यहाँ आपको शत नमन।। 

अपने आशीश से धन्य कर दो हमें, 
देश को दें दिशा ऐसा वर दो हमें, 
अपने कृत्यों से लायें, वतन में अमन। 
आप आये यहाँ आपको शत नमन।। 

दिल के तारों से गूँथे सुमन हार कुछ, 
मंजु-माला नही तुच्छ उपहार कुछ, 
आपको हैं समर्पित हमारे सुमन। 
आप आये यहाँ आपको शत नमन।। 

स्वागतम आपका कर रहा हर सुमन। 
आप आये यहाँ आपको शत नमन।। 
स्वागतम-स्वागतम, स्वागतम-स्वागतम!!

20 टिप्‍पणियां:

  1. आप आये यहाँ आपको शत नमन।।

    बहुत सूंदर स्वागत गीत.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  2. शुक्रिया , सुन्दर लयबद्ध स्वागत गीत के लिए और समय समय पर मेरी हौसला अफजाई के लिए भी

    उत्तर देंहटाएं
  3. सचमुच यह स्वागत गीत याद रखने लायक ही है.मै अपनी संस्था में इसे बच्चों के द्वारा प्रस्तुत करवा सकती हूं? यदि अनुमति हो तो..

    उत्तर देंहटाएं
  4. bahut hi sundar aur layabaddh swagat geet hai.dhanyavaad.

    उत्तर देंहटाएं
  5. "सुमन"
    शब्द के माध्यम से
    इस गीत में
    अलंकारों का प्रयोग
    बहुत सुंदर ढंग से
    किया गया है!

    उत्तर देंहटाएं
  6. आपके "सुमन" के कारण
    यह गीत
    बीस साल बाद भी
    पहले-सी ताज़गी के साथ
    महक रहा है!

    उत्तर देंहटाएं
  7. abhibhut hoo ..bahut sundar rachnaa ... swagat yogy bachho ke muh se ye geet swaroop bahut sundar lagta hoga is gane kee taalmayta bhi bahut sundar hai...

    उत्तर देंहटाएं
  8. ओह यह स्वागत गीत तो पढ़ा ही नहीं था ...बहुत सुन्दर भावों से भरा ,सही शिक्षा देता हुआ सुन्दर गीत

    उत्तर देंहटाएं
  9. बेहद सुन्दर शिक्षाप्रद स्वागत गीत....शास्त्री जी आभार

    उत्तर देंहटाएं
  10. आपकी यह रचना कालजयी रचना है । आज मैं इसे अपने कार्यक्रम में अतिथि स्वागत हेतु गाने जा एहि हूँ । हृदेवसे आभार इतनी सारगर्भित रचना हेतु । :)

    उत्तर देंहटाएं
  11. आपकी यह रचना कालजयी रचना है । आज मैं इसे अपने कार्यक्रम में अतिथि स्वागत हेतु गाने जा रही हूँ । हृदय से आभार इस सारगर्भित रचना हेतु । :)

    उत्तर देंहटाएं
  12. आपकी यह रचना कालजयी रचना है । आज मैं इसे अपने कार्यक्रम में अतिथि स्वागत हेतु गाने जा रही हूँ । हृदय से आभार इस सारगर्भित रचना हेतु । :)

    उत्तर देंहटाएं
  13. आपकी यह रचना कालजयी रचना है । आज मैं इसे अपने कार्यक्रम में अतिथि स्वागत हेतु गाने जा एहि हूँ । हृदेवसे आभार इतनी सारगर्भित रचना हेतु । :)

    उत्तर देंहटाएं
  14. स्वागत के रूप में यह गीत अत्यंत ही श्रेष्ठ है
    वास्तव में कालजई रचना है
    रचनाकार को शत-शत नमन है

    उत्तर देंहटाएं
  15. क्रूपया Mp3 nj.suthar61@gmail.com
    पर भेजेंगे तो बडा उपकार होगा।

    उत्तर देंहटाएं
  16. क्रूपया Mp3 nj.suthar61@gmail.com
    पर भेजेंगे तो बडा उपकार होगा।

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails