"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

सोमवार, 3 जून 2019

"खटीमा में आयोजितपुस्तक विमोचन के कार्यक्रम की रपट" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

 
    खटीमा (उत्तराखण्ड) साहित्य शारदा मंच, खटीमा की ओर से आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय साहित्यकार समागम तथा सम्मान समारोह में सर्वप्रथम अभ्यागतों द्वारा माँ वीणापाणि के चित्र पर दीप प्रज्वलन किया गया।
  तत्पश्चात डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक की दो पुस्तकों “प्रीत का व्याकरण” तथा “टूटते अनुबन्ध” का विमोचन शैल सूत्र की सम्पादक श्रीमती आशा शैली, श्रीमती अमर भारती ट्रू मीडिया के सम्पादक ओम प्रकाश प्रजापति, मनोज कामदेव, रौशन बलूनी, विशन दत्त जोशी 'शैलज', राधा मैन्दोली, मंजू पाण्डेय 'उदिता', श्रीमती अंजू भट्ट, दिनेश चन्द्र गुप्ता 'रविकर', चन्द्र भूषण तिवारी 'चन्द्र', सत्यपाल सिंह 'सजग', राम रतन यादव, राधा तिवारी 'राधेगोपाल', नरेश चन्द्र तिवारी, जगदीश पन्त 'कुमुद', खूब सिंह 'विकल', प्रधानाचार्य रामदत्त जोशी, डॉ पुष्पा जोशी प्राकाम्या श्री श्रीभगवान मिश्र, नीरज वर्मा, संजय कपूर, मौ. इलियास सिद्दीकी, शिव भगवान मिश्र, प्रो. सिद्धेश्वर सिंह, प्रो. राजवेन्द्र कौर, प्रो. मुकेश कुमार, प्रो. नरेन्द्र अग्रवाल, कैलाश चन्द्र पन्त, सतपाल बत्रा, डॉ. राज किशोर सक्सेना 'राज', एम.डी. अखिलेश मिश्र, आचार्य रामदेव आर्य, विनीत शास्त्री, प्रवक्ता पल्लवी, नितिन शास्त्री, कविता शास्त्री, प्रांजल, प्राची, विजयलक्ष्मी, चन्द्रशेखर, अंकित शेखर, हिमांशुकान्त, कमलकान्त, जयशंकर चौबे, मनुश्रवा आर्य, राजेन्द्र कुमार, रत्नाकर पाण्डेय, रामरतन यादव राणा प्रताप इण्टर कालेज के सभागार में राणा प्रताप इण्टर कालेज के अध्यक्ष और उत्तराखण्ड को-ऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष मा. दान सिंह रावत आदि की गरिमामयी उपस्थिति में सम्पन्न हुआ। सम्पूर्ण कार्यक्रम की वीडियोग्राफी एवं फोटोग्राफी नितिन शास्त्री के सौजन्य से विनोद यादव ने की।
     कार्यक्रम की अध्यक्षता राणा प्रताप इण्टर कालेज के प्रबन्धक गीतारामं बंसल ने की तथा मुख्यअतिथि खटीमा फाइबर्स के सी.एम.डी. डॉ. राकेश चन्द्र रस्तोगी रहे। इस अवसर पर डॉ रूपचन्द्र शास्त्री मयंक के व्यक्तित्व और कृतित्व पर आधारित पत्रिका ट्रू मीडिया के अंक का विमोचन भी किया गया। कार्यक्रम का सफल संचालन साहित्य शारदा मंच के महासचिव डॉ महेन्द्र प्रताप पाण्डेय 'नन्द' ने किया।
    विमोचित पुस्तकों “प्रीत का व्याकरण” तथा “टूटते अनुबन्ध” के रचनाकार डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने अपने उद्बोधन में लेखन के प्रारम्भिक समय से वर्तमान तक की यात्रा का उल्लेख करते हुए नवांकुरों को सन्देश देते हुए कहा कि साहित्य के गगन पर उभरते हुए नवोदितकवि सिद्ध साहित्यकारों की 100 पंक्तियाँ पढ़े और दस पंक्तियाँ लिखें।
     भोजनोपरान्त के सत्र में कवि सम्मेलन का भी आयोजन किया गया, जिसकी अध्यक्षता श्रीमती आशा शैली तथा संचालन हल्द्वानी से पधारी कवयित्री श्रीमती मंजू पाण्डेय उदिता ने किया। कवि सम्मेलन में लगभग चालीस कवियों ने काव्यपाठ किया। जो अपराह्न 2 बजे से सायं 6 बजे तक चला।

4 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत बहुत बधाई और हार्दिक शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत बहुत बधाई आदरणीय शास्त्री जी।

    उत्तर देंहटाएं
  3. आदरणीय रूपचन्द्र शास्त्री मयंक सर! आप हम सभी के लिए प्रेरणा का स्रोत हैं। अपनी अनवरत गतिमान साहित्यिक यात्रा में आप सफलता की ऊंचाइयों को प्राप्त कर साहित्याकाश में उज्ज्वल नक्षत्र की भाँति सदैव दैदीप्यमान रहें यही हमारी मंगलमय शुभकामनाएँ हैं। पुनः हार्दिक बधाई व शुभकामनाएँ।

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails