"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

शुक्रवार, 19 नवंबर 2010

"सुख का सूरज" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")


मेरी इस पुस्तक का सम्पादन पूरा हो गया है!
1 जनवरी, 2011 को
इसका लोकार्पण करने का
संकल्प किया है!
सुख का सूरज उगे गगन में,
दुःख का बादल छँट जाए।
हर्ष हिलोरें ले जीवन में,
मन की कुंठा मिट जाए।

चरैवेति के मूल मंत्र को,
अपनाओ निज जीवन में-
झंझावातों के काँटे,
पगडंडी पर से हट जाएँ।

25 टिप्‍पणियां:

  1. तहे दिल से बधाई स्वीकार कीजिये शास्त्री जी

    उत्तर देंहटाएं
  2. sundar
    ati sundar
    ateev sundar

    aanand aa gaya......

    badhaai ho shaastri ji !

    haardik mangal kaamnaayen

    उत्तर देंहटाएं
  3. तहे दिल से बधाई स्वीकार कीजिये शास्त्री जी

    उत्तर देंहटाएं
  4. सच ये कांटे हटाना ही बड़ा काम है

    उत्तर देंहटाएं
  5. बधाई स्वीकार कीजिये शास्त्री जी....

    उत्तर देंहटाएं
  6. शास्त्री जी, निमंत्रण स्वीकार कर लिया .... (बुलाएंगें ना?) हार्दिक शुभकामनाएं!
    फ़ुरसत में .... सामा-चकेवा
    विचार-शिक्षा

    उत्तर देंहटाएं
  7. अरे वाह! ये तो बहुत बढिया खबर है…………दिल से हार्दिक बधाई स्वीकार करें।

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत ही अच्‍छी खबर है यह तो ...हमारी जिसके लिये आपको बहुत-बहुत बधाई के साथ शुभकामनायें ।

    उत्तर देंहटाएं
  9. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  10. अग्रिम बधाई.. शुभकामना सहित! पुस्तक की प्रतीक्षा है!

    उत्तर देंहटाएं
  11. Uttaman Shastri Ji Atishigrameb Karatu.Abinandanamasti mama paksatah.......

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails