"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

बुधवार, 26 अक्तूबर 2011

"दीपावली, गोवर्धनपूजा और भइयादूज की शुभकामनाएँ!" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")






आलोकित हो वतन हमारा।
हो सारे जग में उजियारा।।

कंचन जैसा तन चमका हो,
उल्लासों से मन दमका हो,
खुशियों से महके चौबारा।
हो सारे जग में उजियारा।।

आओ अल्पना आज सजाएँ,
माता से धन का वर पाएँ,
आओ दूर करें अँधियारा।
हो सारे जग में उजियारा।।

घर-घर बँधी हुई हो गैया,
तब आयेगी सोन चिरैया,
सुख का सरसेगा फव्वारा।
होगा तब जग में उजियारा।।

आलोकित हो वतन हमारा।
हो सारे जग में उजियारा।।
♥♥♥
पर्वों की शृंखला में
आप सभी को
धनतेरस,
नर्क चतुर्दशी,
दीपावली,
गोवर्धनपूजा
और
भइयादूज की
हार्दिक शुभकामनाएँ!
डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक

15 टिप्‍पणियां:

  1. wish you a very happy diwali sir ,

    hriday ko sparshti ye rachana

    उत्तर देंहटाएं
  2. सुन्दर प्रस्तुति ..आपको भी पर्वों की शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  3. सुन्दर प्रस्तुति…………दीप मोहब्बत का जलाओ तो कोई बात बने
    नफ़रतों को दिल से मिटाओ तो कोई बात बने
    हर चेहरे पर तबस्सुम खिलाओ तो कोई बात बने
    हर पेट मे अनाज पहुँचाओ तो कोई बात बने
    भ्रष्टाचार आतंक से आज़ाद कराओ तो कोई बात बने
    प्रेम सौहार्द भरा हिन्दुस्तान फिर से बनाओ तो कोई बात बने
    इस दीवाली प्रीत के दीप जलाओ तो कोई बात बने

    आपको और आपके परिवार को दीपोत्सव की हार्दिक शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  4. वाह सर!

    आपको सपरिवार दीपावली की हार्दिक शुभ कामनाएँ!

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  5. सुन्दर प्रस्तुति...दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  6. शास्त्री जी, क्या खूब लिखा आपने,
    आलोकित हो वतन हमारा,
    हो सारे जग में उजियारा.
    सुंदर पन्तियाँ,अच्छे उदगार,
    दीपावली हार्दिक शुभकामनाये....

    कभी हमारे लिंक में आइये आपका स्वागत है.....

    उत्तर देंहटाएं
  7. .. आपको भी दीपपर्व की असीम शुभकामनाएं !!

    उत्तर देंहटाएं
  8. दीपपर्व की असीम शुभकामनाएं! पंच-दिवसीय दीपोत्सव के एक-एक दिन के लिये मुखरित आपकी शब्दालंकृत भावनायें!!! किस पाठक की नज़र न अटक जाये……बहुत सुंदर…।

    उत्तर देंहटाएं
  9. दीप पर्व की आपको और आपके परिवार को शुभकामनाएं...

    उत्तर देंहटाएं
  10. दीपोत्सव की हार्दिक शुभकामनायें....

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति!
    दीवाली, गोवर्धनपूजा और भैया दूज की हार्दिक शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  12. अति सुन्दर.....

    दीवाली की व्यस्तता में कई दिनों के बाद समय मिला....
    शुभकामनाएं....आपको परिवार समेत....!!

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails