"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

मंगलवार, 14 अगस्त 2012

"भारत देश महान" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

 
पनप रहे हैं आज चमन में घूसखोर-शैतान।
हमारा भारत देश महान।
हमारा भारत देश महान।

 बने सियासत के फकीर हैं, कामी और व्यभिचारी,
अस्मत के भक्षक बन बैठे, सत्ता के अधिकारी,
रिश्वत की जंजीरों ने जकड़ा है हिन्दुस्तान।
हमारा भारत देश महान।
हमारा भारत देश महान।

राम राज को चला रहे हैं, रावण, कंस-दुशासन,
पुतलों ने कब्जाया अपने भारत का सिंहासन,
भोली-भाली जनता होती परेशान-हैरान।
हमारा भारत देश महान।
हमारा भारत देश महान।

जिनका कुछ भी दोष नहीं है, वो हैं कारागारों में,
साज़िश रचने वाले बैठे, महलों और आगारों में,
ऊँचे दामों में बिकता है, न्याय और ईमान। 
हमारा भारत देश महान।
हमारा भारत देश महान।

निर्धनता की चक्की में, निर्धन पिसते जाते हैं,
ढोंगी भगत मन्दिरों में, चन्दन घिसते जाते हैं,
इन्सानों की बस्ती में, बस गये आज हैवान।
हमारा भारत देश महान।
हमारा भारत देश महान।

17 टिप्‍पणियां:

  1. क्षोभ और आक्रोश से भरी सुंदर प्रस्तुति !
    स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएँ !

    उत्तर देंहटाएं
  2. अत्यंत सुन्दर और यथार्थ रूपरेखा से ओत-प्रोत है, आपकी रचना!!!!!!!!!!!!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. bahut hi aakrosh se bhari yatharth ko batati hui satic avam shaandaar rachanaa .bahut badhaai aapko.



    mere blog par aapka swagat hai jarur padharain/

    उत्तर देंहटाएं
  4. स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएँ!


    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  5. देश की दुर्दशा पर क्षोभ व्यक्त करती
    रचना..
    स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  6. कटुसत्य उकेरती आपकी ये रचना वाचनीय तो है ही विचारणीय भी है ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. 65 वें स्वतंत्रता दिवस की बधाई-शुभकामनायें.
    आपकी चिंताएं वाजिब हैं .
    इस यौमे आज़ादी पर हमने हिंदी पाठकों को फिर से ध्यान दिलाया है.

    देखिये-
    http://hbfint.blogspot.com/2012/08/65-swtantrta-diwas.html

    उत्तर देंहटाएं
  8. आशा करनी चाहि‍ये कि‍ ये तस्‍वीर भी बदलेगी

    उत्तर देंहटाएं
  9. वे क़त्ल होकर कर गये देश को आजाद,
    अब कर्म आपका अपने देश को बचाइए!

    स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाए,,,,
    RECENT POST...: शहीदों की याद में,,

    उत्तर देंहटाएं
  10. वाह क्या बात है... ज़बरदस्त लिखा है...

    स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ!

    जय हिंद!

    उत्तर देंहटाएं
  11. देश तो सचमुच महान ही है देश की छबि बिगाडने वाले हम आप जैसे देशवासी ही हैं जो सिर्फ आलोचना करना जानते हैं । हर देश की तरह हमारे यहाँ भी बुरे लोग हैं बुराइयाँ हैं । पर अच्छे लोग भी हैं जो देशके लिये बहुत कुछ कर गए हैं और निस्सन्देह आज भी कर रहे हैं । काश कि हम उनके भी गुण गाएं । स्वतन्त्रता-दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं ।

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत खूबसूरत रचना………………स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं !

    उत्तर देंहटाएं
  13. कैसे वरना रह पायेगा, अपना देश महान..

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails