"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

बुधवार, 7 मार्च 2012

‘‘फागुन-फाग, फुहारों में’’ (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)

होली का हुड़दंग मचा है,
गाँव-गलीघर-द्वारों में।
ठण्डाई और भंग घुट रही,
चौराहों-चौबारों में।
प्रेम-गीत और ढोल नगाड़े,
साज सुरीले बजते हैं,
रंग-बिरंगी पिचकारी की,
चहल-पहल बाजारों में।
राधा-रानीकृष्ण-कन्हैया,
हँसी-ठिठोली करते है,
गोरी की चोली भीगी है,
फागुन-फागफुहारों में।
खुशियों का सन्देशा लेकर,
पवन-बसन्ती आयी है,
सजनी का मन रंगा हुआ है,
सतरंगी बौछारों में।
धर सोलह सिंगार धरा ने,
अनुपम छटा बिखेरी है,
खेतबागवन-मन-उपवन,
छाये हैं मस्त बहारों में।

29 टिप्‍पणियां:

  1. एकदम शानदार होली. होली पर हार्दिक शुभकामनाये.

    उत्तर देंहटाएं
  2. सुन्दर प्रस्तुति |

    होली है होलो हुलस, हुल्लड़ हुन हुल्लास।
    कामयाब काया किलक, होय पूर्ण सब आस ।।

    उत्तर देंहटाएं
  3. होली की ढेरों शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत खूबसूरत रंगों में सजी पोस्ट .
    होली की हार्दिक शुभकामनायें शास्त्री जी .

    उत्तर देंहटाएं
  5. आपको होली की सपरिवार हार्दिक शुभकामनाएँ।

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  6. बेहतरीन प्रस्तुति,
    होली की सपरिवार बहुत२ बधाई शुभकामनाए...शास्त्री जी,..

    उत्तर देंहटाएं
  7. राधा-रानी, कृष्ण-कन्हैया,
    हँसी-ठिठोली करते है,
    गोरी की चोली भीगी है,
    फागुन-फाग, फुहारों में।
    तसव्वुरात से शब्दों की वेणी बनाना कोई आपसे सीखे .सुन्दर शब्द चित्र प्रेम रंगों से भीजि नायिका का .

    उत्तर देंहटाएं
  8. सुंदर रचना ...
    होली की शुभकामनायें ...

    उत्तर देंहटाएं
  9. आपको भी होली की हार्दिक शुभकामनाएँ !

    उत्तर देंहटाएं
  10. बेहद खूबसूरत रंगमयी प्रस्तुति………… होली की हार्दिक शुभकामनाएँ !

    उत्तर देंहटाएं
  11. रंग और भंग...मज़ा आ जायेगा...होली की शुभकामनाएं...

    उत्तर देंहटाएं
  12. होली की ढेर सारी शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  13. प्रकृति के साथ मनुष्य भी रंग जाए,तो धरा पर इन्द्रधनुष उतरा समझिए!

    उत्तर देंहटाएं
  14. वाह! बहुत सुन्दर प्रस्तुति.
    होली की आपको व् आपके समस्त परिवार को
    बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  15. बहुत अच्छी प्रस्तुति| होली की आपको हार्दिक शुभकामनाएँ|

    उत्तर देंहटाएं
  16. शास्त्री जी, छान तो आप ही रहे हैं, पर छुप के, चुपके-से! हम बस पहुंच ही रहे हैं।
    हैप्पी होली!

    उत्तर देंहटाएं
  17. आपको सपरिवार होली की शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  18. होली की लख -लख बधाईयाँ , सुखी समृद्ध सरस गरिमामयी होली की कामना ,शुभकामना ......./

    उत्तर देंहटाएं
  19. Sparkling colours of HOLI may paint your life in the way to make you prestigious,honourable and lovable all around.Happy Holi.

    उत्तर देंहटाएं
  20. बहुत सुंदर प्रस्तुति...आपको सपरिवार होली की शुभकामनाएँ!

    उत्तर देंहटाएं
  21. सुन्दर प्रस्तुति ....होली एवं अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की ढेर सारी शुभकामनाएं जी आपको

    उत्तर देंहटाएं
  22. बहूत ,बहूत सुंदर रचना है..
    होली पर्व कि ढेर सारी शुभ कामनाये

    उत्तर देंहटाएं
  23. आपकी पोस्ट चर्चा मंच पर प्रस्तुत की गई है
    कृपया पधारें
    http://charchamanch.blogspot.com
    चर्चा मंच-812:चर्चाकार-दिलबाग विर्क>

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails