"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

मंगलवार, 18 जून 2013

"मेरे नगर खटीमा में बारिश का कहर"

चारों ओर तबाही ही तबाही...!
खटीमा में बारिश का कहर,
पूरा शहर जलमग्न,
मेरे घर के सामने पिथौरागढ़ राष्ट्रीय राज मार्ग भी बन्द,
मेरे घर के आंगन का फर्श भी धँसा,
विद्युत आपूर्ति भी पूरे छत्तीस घंटे बाद अभी चालू हुई है।
कल से इंटरनेट सेवाएँ भी बाधित थीं!
अब 2 बजे मध्याहन से मौसम खुल गया है!

















































































14 टिप्‍पणियां:

  1. बेहद सुन्दर प्रस्तुति ....!
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टि की चर्चा कल बुधवार (19 -06-2013) के तड़प जिंदगी की .....! चर्चा मंच अंक-1280 पर भी होगी!
    सादर...!
    शशि पुरवार

    उत्तर देंहटाएं
  2. उफ़्!जिसे झेलना पड़ता है कैसा लगता होगा .सबकुछ अव्यवस्थित.सब लोग सकुशल-स्वस्थ रहें मन से यही उठता है !!

    उत्तर देंहटाएं
  3. chitron dwara aapne vahan ka hal bakhoobi vyakt kiya hai .aabhar

    उत्तर देंहटाएं
  4. स्थितियाँ, ईश्वर करे, शीघ्र सामान्य हो जायें।

    उत्तर देंहटाएं
  5. दिल दहल गया है उतराखंड में मची तबाही से, ईश्वर सबको सकुशल रखे यही प्रार्थना करते हैं.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  6. उतराखंड में पानी के कहर से सभी हलाकान है , ईश्वर सबको सकुशल रखे ,,,,

    RECENT POST : तड़प,

    उत्तर देंहटाएं
  7. आपकी यह प्रस्तुति कल के चर्चा मंच पर है
    धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  8. आँखों-देखा हाल व्यथित कर गया ....ईश्वर सबकी रक्षा करे

    उत्तर देंहटाएं
  9. आसमानी आपदा
    सब सुरक्षित रहे ईश्वर से विनती है .........

    उत्तर देंहटाएं
  10. जो इश्वर को मंजूर
    उस शक्ति के आगे किसी का बस नहीं
    सब के सकुशल रहने की कामना करते हैं

    उत्तर देंहटाएं
  11. पृकृति के कहर से बच पाना आसान नहीं ..................
    दयानिधान सबको कुशल रखे !!

    उत्तर देंहटाएं
  12. प्रकृति से छेदछाड़ का फल तो मानव को भोगना ही पड़ेगा .ईश्वर सबका कल्याण करे
    latest post परिणय की ४0 वीं वर्षगाँठ !

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत बुरा हाल है....जाने आगे क्‍या होगा..

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails