"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

बुधवार, 5 सितंबर 2012

दोहे "शिक्षक दिवस" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

 

आता है शिक्षक दिवस, एक साल के बाद।
गुरुओं के सम्मान की, हमें दिलाने याद।।

सर्वपल्ली को आज हम, करते नमन हजार।
जिसने शिक्षक दिन दिया, भारत को उपहार।।

धन्य हुए गुरुजन सभी, पाकर यह सौगात।
आओ सब मिल कर करें, अध्यापक की बात।।

जो कहलाता था कभी, प्रभु से अधिक महान।
घटा आज क्यों देश में, शिक्षक का सम्मान।।

अध्यापकदिन पर सभी, गुरुवर करें विचार।
बन्द करें अपने यहाँ, ट्यूशन का व्यापार।।

छात्र और शिक्षक अगर, सुधर जाएँगे आज।
तो फिर से हो जाएगा, उन्नत देश-समाज।। 

13 टिप्‍पणियां:

  1. शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामना... बढ़िया कविता...

    उत्तर देंहटाएं
  2. सच कही बातें,
    अच्छी अच्छी बातें..

    उत्तर देंहटाएं
  3. hamari वाणी की maarifat aaya .

    bahut badhiya bhaaw .

    sab kuchh badhiya hi badhiya.

    उत्तर देंहटाएं
  4. जो कहलाता था कभी, प्रभु से अधिक महान।
    घटा आज क्यों देश में, शिक्षक का सम्मान।।
    आज के दिन हमें इस प्रश्न की तरफ़ भी ध्यान देना चाहिए। बहुत अच्छी प्रस्तुति।

    उत्तर देंहटाएं

  5. छात्र और शिक्षक अगर, सुधर जाएँगे आज।
    तो फिर से हो जाएगा, उन्नत देश-समाज।।

    सुन्दर संदेश देते सार्थक दोहे

    उत्तर देंहटाएं

  6. अध्यापकदिन पर सभी, गुरुवर करें विचार।
    बन्द करें अपने यहाँ, ट्यूशन का व्यापार।।
    बढ़िया रचना मौजू ,एक दम से ,समय की पुकार .
    बुधवार, 5 सितम्बर 2012
    जीवन शैली रोग मधुमेह २ में खानपान ,जोखिम और ....

    उत्तर देंहटाएं
  7. सार्थक सारगर्भित सुंदर संदेश देते दोहे,,,

    RECENT POST,तुम जो मुस्करा दो,

    उत्तर देंहटाएं
  8. mere guru jee to aap hee hain....to aapko shat shat naman aur aise hee apne shishyon ka maargdarshan karte rahiye!

    उत्तर देंहटाएं

  9. बहुत सुंदर !!

    विचार कर रहा हूँ
    सुधर जाऊँ
    किधर जाऊँ
    इधर जाऊँ
    या ऊधर जाऊँ ?

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails