"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

शुक्रवार, 15 जनवरी 2010

"सब्जी-मण्डी" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

Vegetable_market_in_Heraklion

देखो-देखो सब्जी-मण्डी,


बिकते आलू,बैंगन,भिण्डी।


कच्चे केले, पक्के केले,


मटर, टमाटर के हैं ठेले।


गोभी,पालक,मिर्च हरी है,


धनिये से टोकरी भरी है।


लौकी, तोरी और परबल हैं,


पीले-पीले सीताफल हैं।


अचरज में है जनता सारी,


सब्जी पर महँगाई भारी।


(चित्र गूगल सर्च से साभार)

17 टिप्‍पणियां:

  1. वाह जितनी सुंदर सब्जियां दीख रही हैं उतना ही प्यारा बाल गीत.

    उत्तर देंहटाएं
  2. सब्जीमय गीत!! बढ़िया बाल गीत!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. द्रिश्य आन्खो के आगे साकार हो गये.

    उत्तर देंहटाएं
  4. bahut badhiya gungunaane wale geet aur sath hi sath ek samayik baat mahngaai ke bare me..sundar bhav..badhai. shastri ji

    उत्तर देंहटाएं
  5. शास्त्री जी, अत्यंत मनोरम बाल गीत है...मजा आ गया पढ़कर

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति है शास्त्रीजी..!

    उत्तर देंहटाएं
  7. सब्जी ही नहीं हर चीज पर मँहगाई भारी पड़ रही है
    सुन्दर रचना

    उत्तर देंहटाएं
  8. कल 13/अगस्त/2014 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    धन्यवाद !

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails