"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

सोमवार, 6 दिसंबर 2010

"हमारे लिए शुभकामनाएँ" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

कृतज्ञता और आभार के साथ 
प्रस्तुत कर रहा हूँ-
आदरणीय डॉ. डण्डा 'लखनवी' जी
के द्वारा प्रेषित
हमारे लिए शुभकामनाएँ!

शास्त्री जी और भारती जी को 
उनकी वैवाहिक वर्षगाँठ पर मंगल-कामनाओं सहित 


सुखद हो वैवाहिक जीवन।

अभी उमंगें नई - नई हैं
अभी अधूरे सपन कई हैं
अभी उठ रहे नव सरगम हैं,
अभी थिरकते हुए कदम हैं,
अभी है तो शेष पड़ा यौवन।
सुखद हो वैवाहिक जीवन॥

बढ़े तेज, उमगे उज्ज्वलता,
पावें दिन-दिन और कुशलता,
अर्जित करते रहें सफलता,
निकट नहीं आए दुर्बलता,
मुदित-प्रमुदित हो घर-आँगन।
सुखद हो वैवाहिक जीवन॥

खाना - पीना, हंसना - गाना,
बढे़ अमित आनन्द खजाना,
दादी - दादा नानी - नाना,
यह सुख अभी और है पाना,
पुलकता रहे सदा तन- मन,
सुखद हो वैवाहिक जीवन॥

पूरी हों कामना अधूरी,
महके जीवन ज्यों कस्तूरी,
उम्र बढे़ पर बढे़ न दूरी,
हो चाहे कितनी मजबूरी,
दिनों-दिन कसें और बंधन।
सुखद हो वैवाहिक जीवन॥


-डॉ० डंडा लखनवी, सचलभाष-9336089753

डॉ० डंडा लखनवी
(जी.के.वर्मा)

12 टिप्‍पणियां:

  1. अपको और भाभी जी को वैवाहिक वर्शःागाँठ पर बहुत बहुत बधाई और मंगल कामनायें। आज जरू भाभी जी ने खास पकवान बनायें होंगे आते हैं खाने के लिये।

    उत्तर देंहटाएं
  2. zabardast rachna ki hai danda ji ne..

    unhen dhnyavaad

    aur aapko va aadarneeya bhaabhiji ko

    dheron haardik badhaaiyan !

    उत्तर देंहटाएं
  3. ये तो बहुत ही सुन्दर शुभकामना संदेश दिया है……………एक बार फिर से आपको सुखी वैवाहिक जीवन की हार्दिक शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुंदर गीत है .. अपको और भाभी जी को वैवाहिक वर्षगांठ पर बहुत बधाई और शुभकामनाएं !!

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत ख़ूबसूरत और लाजवाब रचना ! आपको एवं भाभी जी को विवाह की वर्षगाँठ पर ढेर सारी बधाइयाँ एवं शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत सुन्दर गीत है बहुत सारी शुभकामनाये.

    उत्तर देंहटाएं
  7. हमारी शुभकामना भी स्वीकार करें..

    उत्तर देंहटाएं
  8. आपको सुखी वैवाहिक जीवन की हार्दिक शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  9. लाजवाब रचना ! आपको एवं भाभी जी को विवाह की वर्षगाँठ पर ढेर सारी बधाइयाँ एवं शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  10. अपको और भाभी जी को वैवाहिक वर्षगांठ पर बहुत बहुत बधाई और मंगल कामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  11. आपको शादी की साल गिरह की बधाई।
    आदरणीय डंडा लखनवी जी की कवीता बहुत ही अच्छी लगी उनका आभार।

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails