"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

बुधवार, 29 दिसंबर 2010

"कर दूँगा रौशन जग सारा" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")




मैं नये साल का सूरज हूँ,
हरने आया हूँ अँधियारा।
 मैं स्वर्णरश्मियों से अपनी,
लेकर आऊँगा उजियारा।।

चन्दा को दूँगा मैं प्रकाश,
सुमनों को दूँगा मैं सुवास,
मैं रोज गगन में चमकूँगा,
मैं सदा रहूँगा आस-पास,
मैं जीवन का संवाहक हूँ,
कर दूँगा रौशन जग सारा।
लेकर आऊँगा उजियारा।।

मैं नित्य-नियम से चलता हूँ,
प्रतिदिन उगता और ढलता हूँ,
निद्रा से तुम्हें जगाने को,
पूरब से रोज निकलता हूँ,
नित नई ऊर्जा भर  दूँगा,
चमकेगा किस्मत का तारा।
लेकर आऊँगा उजियारा।।

मैं दिन का भेद बताता हूँ,
और रातों को छिप जाता हूँ,
विश्राम करो श्रम को करके,
मैं पाठ यही सिखलाता हूँ,
बन जाऊँगा मैं सरदी में,
गुनगुनी धूप का अंगारा।
लेकर आऊँगा उजियारा।।

मैं नये साल का सूरज हूँ,
हरने आया हूँ अँधियारा।।

18 टिप्‍पणियां:

  1. naye saal ka swagat karti...bhut hi sundar...sabd chayan wah ji kya baat hai.....happy new year....
    "kaavya kalpna"

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपने मेरी भावनाओं को भी शब्द दिए।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत सरस रोचक और शिक्षाप्रद कविता।

    आशा है ९ तारीख को आपके गले से सुनने को मिलेगा।

    उत्तर देंहटाएं
  4. नए साल के सूरज का स्वागत करती इस कविता के साथ ही नए साल की मंगलमयी शुभकामना भी स्वीकार करें ।

    उत्तर देंहटाएं
  5. नये वर्ष का सूर्य, भगवान करे सबको प्रकाश दे। बहुत ही सुन्दर कविता।

    उत्तर देंहटाएं
  6. मैं दिन का भेद बताता हूँ,
    और रातों को छिप जाता हूँ,
    विश्राम करो श्रम को करके,
    मैं पाठ यही सिखलाता हूँ,
    बन जाऊँगा मैं सरदी में,
    गुनगुनी धूप का अंगारा।
    लेकर आऊँगा उजियारा।।

    मैं नये साल का सूरज हूँ,
    हरने आया हूँ अँधियारा।।

    पूरी लयात्मकता के साथ सुन्दर गीत

    उत्तर देंहटाएं
  7. मैं नये साल का सूरज हूँ,
    हरने आया हूँ अँधियारा।।

    maine to ye geet gaa ke padha...aanand aa gaya!

    उत्तर देंहटाएं
  8. अच्‍छी कविता। नव वर्ष की शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  9. सुन्दर गीत.. नए वर्ष का जोश भरा आह्वान.. नव वर्ष की हार्दिक शुभकामना...

    उत्तर देंहटाएं
  10. नए साल का सूरज ...चमकता रहे ...नव वर्ष की शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  11. मैं नये साल का सूरज हूँ,
    हरने आया हूँ अँधियारा।।

    सुन्दर संदेश देता गीत उत्साहवर्धन करता है।नव वर्ष की शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत ओजपूर्ण प्रेरक प्रस्तुति..नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं !

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत ऊर्जावान गीत .
    आपको नव वर्ष की ढेरों शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  14. मैं नये साल का सूरज हूँ,
    हरने आया हूँ अँधियारा।
    मैं स्वर्णरश्मियों से अपनी,
    लेकर आऊँगा उजियारा।।

    चन्दा को दूँगा मैं प्रकाश,
    सुमनों को दूँगा मैं सुवास,
    मैं रोज गगन में चमकूँगा,
    मैं सदा रहूँगा आस-पास,
    मैं जीवन का संवाहक हूँ,
    कर दूँगा रौशन जग सारा।
    लेकर आऊँगा उजियारा।।

    मैं नित्य-नियम से चलता हूँ,
    प्रतिदिन उगता और ढलता हूँ,
    निद्रा से तुम्हें जगाने को,
    पूरब से रोज निकलता हूँ,
    नित नई ऊर्जा भर दूँगा,
    चमकेगा किस्मत का तारा।
    लेकर आऊँगा उजियारा।।

    मैं दिन का भेद बताता हूँ,
    और रातों को छिप जाता हूँ,
    विश्राम करो श्रम को करके,
    मैं पाठ यही सिखलाता हूँ,
    बन जाऊँगा मैं सरदी में,
    गुनगुनी धूप का अंगारा।
    लेकर आऊँगा उजियारा।।

    मैं नये साल का सूरज हूँ,
    हरने आया हूँ अँधियारा।।

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails