"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

मंगलवार, 28 दिसंबर 2010

"आने वाला है नया साल" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")


चमकेगा अब गगन-भाल।
आने वाला है नया साल।।


आशाएँ सरसती हैं मन में,
खुशियाँ बरसेंगी आँगन में,
सुधरेंगें बिगड़े हुए हाल।
आने वाला है नया साल।।

होंगी सब दूर विफलताएँ,
आयेंगी नई सफलताएँ,
जन्मेंगे फिर से पाल-बाल।
आने वाला है नया साल।।


सिक्कों में नहीं बिकेंगे मन,
सत्ता ढोयेंगे पावन जन,
अब नहीं चलेंगी वक्र-चाल।
आने वाला है नया साल।।



हठयोगी, पण्डे और ग्रन्थी,
हिन्दू-मुस्लिम, कट्टरपन्थी,
अब नहीं बुनेंगे धर्म-जाल।
आने वाला है नया साल।।

17 टिप्‍पणियां:

  1. सिक्कों में नहीं बिकेंगे मन,
    सत्ता ढोयेंगे पावन जन,
    अब नहीं चलेंगी वक्र-चाल।
    आने वाला है नया साल।।
    आदरणीय मयंक जी,
    बहुत ही सुन्दर भावपूर्ण रचना है !
    नए वर्ष की शुभकामनाएं !

    -ज्ञानचंद मर्मज्ञ

    उत्तर देंहटाएं
  2. वाह वाह! आशा का संचार करती एक बेहद सुन्दर कविता दिल को छू गयी।
    नव वर्ष की अग्रिम शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  3. adarniy shastriji!
    naya saal waisa hi ho jaisa
    aapne apni sundar ,bhavbhari rachna
    me chaha hai.

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुन्दर गीत ..काश आपकी यह बातें सत्य हों ..आशान्वित करती आपकी रचना बहुत अच्छी लगी

    उत्तर देंहटाएं
  5. आशा का संचार करती सुद्नर कविता.. नव वर्ष की हार्दिक शुभकामना !

    उत्तर देंहटाएं
  6. सुन्दर और बेहतरीन रचना,नव वर्ष की हार्दिक शुभकामना !

    उत्तर देंहटाएं
  7. यादों को रखें सम्हाल,
    आयेगा अभी दूसरा साल।

    उत्तर देंहटाएं
  8. नववर्ष के अवसर पर आशा का संचार करती आपकी ये रचना प्रेरणाप्रद लगी। आपको इस कविता के लिए बधाई...

    उत्तर देंहटाएं
  9. चमकेगा निश्चित गगन-भाल,
    आएगा ज्यों ही नया साल!

    उत्तर देंहटाएं
  10. पंडित जी! आशा करते हैं और कामना भी कि ऐसा ही हो!!

    उत्तर देंहटाएं
  11. आशा का संचार करती खूबसूरत कविता.नव वर्ष आपको शुभ हो.

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत खुबसुरत रचना जी, मजा आ गया, धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  13. नए साल में सुख व आनंद बना रहे. सस्नेह.

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails