"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

गुरुवार, 10 मार्च 2011

"होली का त्यौहार" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

होली का त्यौहार
-0-0-0-0-0-
फागुन में नीके लगें, छींटे औ' बौछार।
सुन्दर, सुखद-ललाम है, होली का त्यौहार।।

शीत विदा होने लगा, चली बसन्त बयार।
प्यार बाँटने आ गया, होली का त्यौहार।।

पाना चाहो मान तो, करो मधुर व्यवहार।
सीख सिखाता है यही, होली का त्यौहार।।

रंगों के इस पर्व का, यह ही है उपहार।
भेद-भाव को मेटता, होली का त्यौहार।।

तन-मन को निर्मल करे, रंग-बिरंगी धार।
लाया नव-उल्लास को, होली का त्यौहार।।

भंग न डालो रंग में, वृथा न ठानो रार।
देता है सन्देश यह, होली का त्यौहार।।

छोटी-मोटी बात पर, मत करना तकरार।
हँसी-ठिठोली से भरा, होली का त्यौहार।।

सरस्वती माँ की रहे, सब पर कृपा अपार।
हास्य-व्यंग्य अनुरक्त हो, होली का त्यौहार।।

22 टिप्‍पणियां:

  1. होली के त्यौहार के माध्यम से एक सही और सार्थक सन्देश का सम्प्रेषण किया है आपने ....आपको हार्दिक शुभकामनायें ...आशा है आप यूँ ही काव्यात्मक रंगों से हमें रंगते रहेंगे .

    उत्तर देंहटाएं
  2. भंग न डालो रंग में, वृथा न ठानो रार।
    देता है सन्देश यह, होली का त्यौहार।।

    छोटी-मोटी बात पर, मत करना तकरार।
    हँसी-ठिठोली से भरा, होली का त्यौहार।।

    बहुत सुन्दर और सार्थक संदेश देती शानदार रचना के लिये बधाई स्वीकारें।

    उत्तर देंहटाएं
  3. होली पर सार्थक सदेश देती हुई.

    उत्तर देंहटाएं
  4. सरस्वती माँ की रहे, सब पर कृपा अपार।
    हास्य-व्यंग्य अनुरक्त हो, होली का त्यौहार।।

    सुन्दर और सार्थक संदेश देती रचना !!

    .

    उत्तर देंहटाएं
  5. शीत विदा होने लगा, चली बसन्त बयार।
    प्यार बाँटने आ गया, होली का त्यौहार।
    .
    वाह क्या बात है . वैसे फागुन का मज़ा गाव मैं ही आता है

    उत्तर देंहटाएं
  6. होली के मौके पर सुंदर रचना...

    उत्तर देंहटाएं
  7. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  8. होली पर सार्थक सन्देश देते दोहे बहुत अच्छे लगे ...

    उत्तर देंहटाएं
  9. मैं पिछले कुछ महीनों से ज़रूरी काम में व्यस्त थी इसलिए लिखने का वक़्त नहीं मिला और आपके ब्लॉग पर नहीं आ सकी!
    बहुत सुन्दर रचना लिखा है आपने! बढ़िया लगा!

    उत्तर देंहटाएं
  10. वाह शास्त्री जी, बहुत सुन्दर रचना है !

    _______________________________
    १९ तारीख को चाँद आ रहा है मिलने ...

    उत्तर देंहटाएं
  11. भंग न डालो रंग में, वृथा न ठानो रार।
    देता है सन्देश यह, होली का त्यौहार।।

    होली के त्यौहार का बहुत सार्थक सन्देश देती सुन्दर रचना..आभार

    उत्तर देंहटाएं
  12. प्यार बाँटने आ गया, होली का त्यौहार। काश ! होली का अर्थ यही रहे ..

    उत्तर देंहटाएं
  13. होली के पहले ही रंगारंग माहौल बनता जा रहा है।

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत सुन्दर अच्छी लगी आपकी हर पोस्ट बहुत ही स्टिक है आपकी हर पोस्ट कभी अप्प मेरे ब्लॉग पैर भी पधारिये मुझे भी आप के अनुभव के बारे में जनने का मोका देवे
    दिनेश पारीक
    http://vangaydinesh.blogspot.com/ ये मेरे ब्लॉग का लिंक है यहाँ से अप्प मेरे ब्लॉग पे जा सकते है

    उत्तर देंहटाएं
  15. बहुत सुन्दर रचना, होली के रंगों को अभी से ले आई..

    उत्तर देंहटाएं
  16. होली के रंग-रस से सराबोर अत्यंत
    ही मधुर प्रस्तुति है ..बधाई शास्त्रीजी!

    उत्तर देंहटाएं
  17. होली की बयार चल पड़ी...वाह!

    उत्तर देंहटाएं
  18. छोटी-मोटी बात पर, मत करना तकरार।
    हँसी-ठिठोली से भरा, होली का त्यौहार।।

    बहुत खूब सुन्दर सन्देश

    उत्तर देंहटाएं
  19. दोहे बहुत अच्छे लगे |
    "छोटी मोटी बात पर ------होली का त्यौहार "
    बहुत खूब लिखा है
    आशा

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails