"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

शनिवार, 26 जनवरी 2013

" इतिहास में 26 जनवरी"

" इतिहास में 26 जनवरी"
मित्रों!
26 जनवरी से जुड़ी इतिहास की कुछ महत्वपूर्ण घटनाओं को जानिए!
  1. 26 जनवरी, 1530 को बाबर की मृत्यू हुई।
  2. 26 जनवरी, 1530 को हुमायूँ ने शेरशाह सूरी को हराया।
  3. 26 जनवरी, 1539 को शेरशाह सूरी ने हुमायूँ को हराया।
  4. 26 जनवरी, 1720 को नादिर शाह की सेना ने दिल्ली पर हमला किया।
  5. 26 जनवरी, 1778 को ऑस्ट्रेलिया ने स्वतन्त्रता प्राप्त की।
  6. 26 जनवरी, 1792 को टीपू सुल्तान ने अंग्रेजों से युद्ध किया।
  7. 26 जनवरी, 1861 को बम्बई हाईकोर्ट का निर्माण हुआ।
  8. 26 जनवरी, 1876 को बम्बई और कोलकाता के बीच रेलवे सेवा आरम्भ हुई।
  9. 26 जनवरी, 1882 को कलकत्ता और मद्रास के बीच पहली टेलीफोन सेवा आरम्भ हुई।
  10. सन 1929 के दिसंबर में लाहौर में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का अधिवेशन पंडित जवाहरलाल नेहरू की अध्यक्षता में हुआ जिसमें प्रस्ताव पारित कर इस बात की घोषणा की गई कि यदि अंग्रेज सरकार 26 जनवरी, 1930 तक भारत को उपनिवेश का पद (डोमीनियन स्टेटस) नहीं प्रदान करेगी तो भारत अपने को पूर्ण स्वतंत्र घोषित कर देगा। 26 जनवरी, 1930 तक जब अंग्रेज सरकार ने कुछ नहीं किया तब कांग्रेस ने उस दिन भारत की पूर्ण स्वतंत्रता के निश्चय की घोषणा की और अपना सक्रिय आंदोलन आरंभ किया। उस दिन से 1947 में स्वतंत्रता प्राप्त होने तक 26 जनवरी गणतन्त्र दिवस के रूप में मनाया जाता रहा। तदनंतर स्वतंत्रता प्राप्ति के वास्तविक दिन 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में स्वीकार किया गया। 26 जनवरी का महत्व बनाए रखने के लिए विधान निर्मात्री सभा (कांस्टीट्यूएंट असेंबली) द्वारा स्वीकृत संविधान में भारत के गणतंत्र स्वरूप को मान्यता प्रदान की गई।
  11. 26 जनवरी, 1949 को स्वतंत्र भारत के संविधान बनाने के लिए डॉ.भीमराव अम्बेदकर की अध्यक्षता में समिति गठित की गई।
  12. 26 जनवरी, 1950 को स्वतंत्र भारत का संविधान लागू हुआ।
  13. 26 जनवरी, 1957 को जम्मू कश्मीर में नया संविधान लागू हुआ।
  14. 26 जनवरी, 1969 को मद्रास राज्य का नाम बदलकर तमिलनाडू रखा गया।
  15. 26 जनवरी, 1972 में हिन्दी हरियाणा की सरकारी भाषा बनी।
  16. 26 जनवरी, 1998 को अमेरिकी राष्ट्रपति बिलक्लिंटन ने मोनिका लेविंस्की के साथ सम्बन्धों से इन्कार किया।
  17. 26 जनवरी, 2001 को गुजरात में विनाशकारी भूकंप आया।

13 टिप्‍पणियां:

  1. आपके द्धारा दी गयी कई जानकारी अपुन को मालूम ही नहीं थी।

    उत्तर देंहटाएं
  2. प्रभावी है-
    शुभकामनाये-
    गणतंत्र दिवस अमर रहे ||

    उत्तर देंहटाएं
  3. गणतन्त्र का कितना कुछ गणतन्त्र में..

    उत्तर देंहटाएं
  4. अच्छी जानकारी। इतने विस्तार से नहीं पता था।

    उत्तर देंहटाएं
  5. २६ जनवरी के महत्त्व का इतने विस्तार से अच्छी जानकारी देने के लिए आभार,,,,

    गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाए,,,
    recent post: गुलामी का असर,,,

    उत्तर देंहटाएं
  6. बढ़िया जानकारी...
    गणतंत्र दिवस की बहुत बहुत बधाइयाँ और शुभकामनाएं

    सादर
    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  7. उम्दा प्रस्तुति के लिए बहुत बहुत बधाई...६४वें गणतंत्र दिवस पर शुभकामनाएं...

    उत्तर देंहटाएं
  8. बढ़िया जानकारी...
    गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं....

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत बढ़िया जानकारी |
    क्रमांक 10 में "उस दिन से 1947 में स्वतंत्रता प्राप्त होने तक 26 जनवरी गणतन्त्र दिवस के रूप में मनाया जाता रहा।" में गणतन्त्र के जगह स्वतंत्र होगा शायद |
    आभार |

    उत्तर देंहटाएं
  10. ज्ञानवर्द्धक जानकारी। आभार।

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत बढ़िया जानकारी |
    गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं...
    New postमेरे विचार मेरी अनुभूति: तुम ही हो दामिनी।

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत अच्‍छी जानकारी दी आपने..

    उत्तर देंहटाएं
  13. 26 जनवरी 2013: गण का तंत्र से संपर्क टूट गया अब तंत्र अलग है गण अलग .नेताओं की करतूतें उन्हें जेलों के तीर्थ तिहाड़ की तीर्थ यात्रा करवा रहीं हैं .यही हासिल है 64 वें गणतंत्र का .

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails