"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

मंगलवार, 1 जनवरी 2013

"आचार की बातें करें" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

साधना, आराधना उपहार की बातें करें।। 
प्यार का मौसम है, आओ प्यार की बातें करें। 

नेह की लेकर मथानी, सिन्धु का मन्थन करें,
छोड़ कर छल-छद्म, कुछ उपकार की बातें करें।

आस का अंकुर उगाओ, दीप खुशियों के जलें, 
प्रीत का संसार है, संसार की बातें करें। 

भावनाओं के भँवर में, छेड़ दो वीणा मधुर,
घर सजायें स्वर्ग सा, मनुहार की बातें करें। 

कदम आगे तो बढ़ाओ, सामने मंजिल खड़ी, 
जीत के माहौल में, क्यों हार की बातें करें। 

बेचना मत आबरू को, "रूप" के बाज़ार में, 
आओ हम परिवार में, आचार की बातें करें।

17 टिप्‍पणियां:

  1. आपकी यह बेहतरीन रचना शनिवार 05/01/2013 को http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जाएगी. कृपया अवलोकन करे एवं आपके सुझावों को अंकित करें, लिंक में आपका स्वागत है . धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  2. नव वर्ष 2013 की बधाई और हार्दिक शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  3. vyabhichar ki godi me pale aur badhe log "kis muh se aachar ki baten kar sakte hain,ha,aachar aur sadachar koshishe tej karni hongi

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत ही उत्‍कृष्‍ट रचना, बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत ही खूबसूरत! नव वर्ष 2013 की आपको और आपके परिवार को हार्दिक शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं

  6. सार्थक सन्देश !
    नव वर्ष में सब शुभ हो ...मंगलकामनाएं!

    उत्तर देंहटाएं
  7. नए साल की हार्दिक शुभकामनाएं ।

    खुशियों की बस बात हो, आये न कोई दुर्दिन ।
    आशा का संचार हो, विश्वास बढे हर दिन ।।

    उत्तर देंहटाएं
  8. मंगलवार, 1 जनवरी 2013

    "आचार की बातें करें" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

    साधना, आराधना उपहार की बातें करें।।
    प्यार का मौसम है, आओ प्यार की बातें करें।

    नेह की लेकर मथानी, सिन्धु का मन्थन करें,
    छोड़ कर छल-छद्म, कुछ उपकार की बातें करें।

    आस का अंकुर उगाओ, दीप खुशियों के जलें,
    प्रीत का संसार है, संसार की बातें करें।

    भावनाओं के भँवर में, छेड़ दो वीणा मधुर,
    घर सजायें स्वर्ग सा, मनुहार की बातें करें।

    कदम आगे तो बढ़ाओ, सामने मंजिल खड़ी,
    जीत के माहौल में, क्यों हार की बातें करें।

    बेचना मत आबरू को, "रूप" के बाज़ार में,
    आओ हम परिवार में, आचार की बातें करें।

    सार्थक सामयिक सन्देश देती खूब सूरत रचना है भाई साहब .

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत सार्थक सन्देश...नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  10. नव वर्ष की शुभकामनाएं...

    उत्तर देंहटाएं
  11. सुन्दर सन्देश...
    नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ..

    सादर
    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  12. उम्दा सोच ...सार्थक सन्देश ...!

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails