"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

मंगलवार, 28 मई 2013

"खटीमा में आलइण्डिया मुशायरा एवं कविसम्मेलन सम्पन्न"

मित्रों!
     आज दिनांक 27 मई, 2013 को खटीमा में एक आलइण्डिया मुशायरा एवं कविसम्मेलन का आयोजन किया गया जिसका उद्घाटन उत्तराखण्ड के महामहिम राज्यपाल श्री अजीज कुरैशी थे। इस आयोजन में हिन्दोस्तां के नामचीह्न शायर और वयोवृद्ध गीतकार गोपालदास नीरज भी उपस्थित थे
      इस अवसर पर मैं (डॉ,रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक') ने श्री राज्यपाल को अपनी चार पुस्तकें "सुख का सूरज", "धरा के रंग", हँसता-गाता बचपन" और "नन्हे सुमन" भी भेंट करते हुए अपना काव्यपाठ भी किया।
           इस आयोजन में पद्मभूषण गोपाल दास नीरज, प्रो.वसीम बरेलवी, शशांक प्रभाकर अलीगढ़, सिकन्दर हयात गड़बड़, नदीम फारूख, कशिश वारसी, अफॉजॉल मंगलौरी, रुस्तम रामपुरी, एहसान वारसी, रुस्तम वारसी, आद शायरों और डॉ.सरिता शर्मा, तरन्नुम अनवर, नुजहत निगार, ममता सिंह देहरादून, खुशबू शर्मा मुजफ्फरनगर, शबीना अदीब कानपुरी आदि शायरात ने अपने-अपने कलाम से नवाजा।
        इस आलइण्डिया मुशायरा एवं कविसम्मेलन के आयोजक हाजी वसीमं कुरैशी और एम.फहीम ताज थे। 
    सदारत उत्तराखण्ड के विधानसभा अध्यक्ष मा. गोविन्द सिंह कुंजवाल ने की।
देखिए मुशायरे की कुछ तस्बीरें-









18 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत बहुत बधाईयां जी, आज नीरज जी को भी तस्वीर में देखकर आनंद हुआ, शुभकामनाएं.

    रामारम.

    उत्तर देंहटाएं
  2. shubhkamnayen ..आभार . छत्तीसगढ़ नक्सली हमला -एक तीर से कई निशाने

    साथ ही जानिए संपत्ति के अधिकार का इतिहास संपत्ति का अधिकार -3महिलाओं के लिए अनोखी शुरुआत आज ही जुड़ेंWOMAN ABOUT MAN

    उत्तर देंहटाएं
  3. तस्वीरों के साथ अगर कुछ रचनाएं भी शामिल करते तो और मजा आ जाता।
    बढिया आयोजन..

    उत्तर देंहटाएं
  4. बढ़िया आयोजन
    आपको बहुत बहुत बधाई और शुभकामनायें

    तपती गरमी जेठ मास में---
    http://jyoti-khare.blogspot.in

    उत्तर देंहटाएं
  5. कवि सम्मेलन के आयोजन के लिए आपको बहुत बहुत बधाई और शुभकामनायें.

    उत्तर देंहटाएं
  6. बढ़िया आयोजन…………बहुत सुन्दर चित्रमय प्रस्तुति।

    उत्तर देंहटाएं
  7. गुरु जी प्रणाम ,आपको इस आयोजन के लिए बहुत बहुत बधाई
    नमस्कार !
    आपकी यह रचना कल बुधवार (29-05-2013) को ब्लॉग प्रसारण: अंक 10 पर लिंक की गई है कृपया पधारें.

    उत्तर देंहटाएं
  8. इस सफल आयोजन के लिए आपको बहुत बहुत बधाई,

    RECENT POST : बेटियाँ,

    उत्तर देंहटाएं
  9. बढ़िया आयोजन और फोटो बधाई !!

    उत्तर देंहटाएं
  10. खटीमा में इस शानदार आयोजन के लिये बहुत-बहुत बधाई.महान कवि परम आदरणीय गोपाल दास नीरज जी पर उनके क्लोज-अप फोटो के साथ एक विशेषांक पोस्ट की प्रतीक्षा रहेगी.

    उत्तर देंहटाएं
  11. मित्र बहुत ही अकथनीय व विपरीत पारिवारिक परिस्थितियाँ थीं सो मन वंचित रहा अन्यथा इतना बड़ा कार्यक्रम कैसे छोडता भला फिर मेरे पूज्य 'गीत-गुरु' नीरज महोदय के चरण-स्पर्श करने का दुर्लभ अवसर भी गंवाना पड़ा !

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails