"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

बुधवार, 17 अगस्त 2011

"दोहे...गाँधी का अवतार" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

 
अपना भारतवर्ष है, गाँधी जी का देश।
सत्य-अहिंसा का यहाँ, बना रहे परिवेश।१।

शासन में जब बढ़ गया, ज्यादा भ्रष्टाचार।
तब अन्ना ने ले लिया, गाँधी का अवतार।२।

गांधी टोपी देखकर, सहम गये सरदार।
अन्ना के आगे झुकी, अभिमानी सरकार।३।

साम-दाम औ दण्ड की, हुई करारी हार।
सत्याग्रह के सामने, डाल दिये हथियार।४।

जनबल आये हाथ में, ऐसा करो उपाय।
सिंहासन पर प्रजा ही, राजा को बैठाय।५।

29 टिप्‍पणियां:

  1. वाह अति सुन्दर प्रस्तुति जन जागृति का संचार करती।

    उत्तर देंहटाएं
  2. देशातील तरुण जागृत झालेला आहे. "युवाशक्ति हीच आमची राष्ट्रशक्ति आहे"
    भ्रष्टाचार मुक्त भारत निर्मितीची हीच वेड आहे असा मोका पुन्हा येईल की नाही शंका आहे म्हणून आता स्वातन्त्रायांची दुसरी लढाई समजून अहिंसेच्या मार्गाने रसत्यावर उतरण्याची गरज आहे. तरच आपण " स्वातन्त्रायांची दुसरी लढाई जिंकू शकू, भ्रष्टाचार मुक्त भारत निर्माण करू शकू " सुन्दर प्रस्तुति

    उत्तर देंहटाएं
  3. शासन में जब बढ़ गया, ज्यादा भ्रष्टाचार।
    तब अन्ना ने ले लिया, गाँधी का अवतार।२।
    गांधी टोपी देखकर, सहम गये सरदार।
    अन्ना के आगे झुकी, अभिमानी सरकार।३।
    बहुत सुन्दर और सटीक दोहे! ज़बरदस्त प्रस्तुती!

    उत्तर देंहटाएं
  4. ♥ गांधी टोपी देखकर, सहम गये सरदार।
    अन्ना के आगे झुकी, अभिमानी सरकार।♥
    वाह बहुत खूब गाँधी जी के दर्शन हो गए है इस बार शयद सरकार को,
    ♥ ♥
    सार्थक रचना के लिए बधाई स्वीकार करें .......आभार♥

    उत्तर देंहटाएं
  5. Actions ▼
    रूपचंद्र: "दोहे...गाँधी का अवतार" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

    अपना भारतवर्ष है, गांधी जी का देश।
    सत्य-अहिंसा का यहाँ, बना रहे परिवेश।१।

    शासन में जब बढ़ गया, ज्यादा भ्रष्टाचार।
    तब अन्ना ने ले लिया, गाँधी का अवतार।२।....,इस खूबसूरत अपडेट के लिए आपका विशेष आभार .मौजू और इस पल की बंदिश है यह .

    http://uchcharan.blogspot.com/2011/08/blog-post_17.html
    Sent at 6:26 AM on Wednesday

    रूपचंद्र is busy. You may be interrupting.
    http://veerubhai1947.blogspot.com/
    मंगलवार, १६ अगस्त २०११
    पन्द्रह मिनिट कसरत करने से भी सेहत की बंद खिड़की खुल जाती है .
    . August 16, 2011
    उठो नौजवानों सोने के दिन गए ......http://kabirakhadabazarmein.blogspot.com/
    सोमवार, १५ अगस्त २०११
    संविधान जिन्होनें पढ़ लिया है (दूसरी किश्त ).
    http://veerubhai1947.blogspot.com/
    मंगलवार, १६ अगस्त २०११
    त्रि -मूर्ती से तीन सवाल .

    उत्तर देंहटाएं
  6. अपना भारतवर्ष है, गांधी जी का देश।
    सत्य-अहिंसा का यहाँ, बना रहे परिवेश।१।

    शासन में जब बढ़ गया, ज्यादा भ्रष्टाचार।
    तब अन्ना ने ले लिया, गाँधी का अवतार।२।....,इस खूबसूरत अपडेट के लिए आपका विशेष आभार .मौजू और इस पल की बंदिश है यह .


    http://veerubhai1947.blogspot.com/
    मंगलवार, १६ अगस्त २०११
    पन्द्रह मिनिट कसरत करने से भी सेहत की बंद खिड़की खुल जाती है .
    . August 16, 2011
    उठो नौजवानों सोने के दिन गए ......http://kabirakhadabazarmein.blogspot.com/
    सोमवार, १५ अगस्त २०११
    संविधान जिन्होनें पढ़ लिया है (दूसरी किश्त ).
    http://veerubhai1947.blogspot.com/
    मंगलवार, १६ अगस्त २०११
    त्रि -मूर्ती से तीन सवा

    उत्तर देंहटाएं
  7. बेहद प्रभावशाली दोहे... वाकई अन्ना गाँधी के अवतार हैं...

    उत्तर देंहटाएं
  8. गांधी टोपी देखकर, सहम गये सरदार।
    अन्ना के आगे झुकी, अभिमानी सरकार।३।
    दोहे सही समय पर , सटीक , अच्छे लगे

    उत्तर देंहटाएं
  9. "जनबल आये हाथ में, ऐसा करो उपाय।
    सिंहासन पर प्रजा ही, राजा को बैठाय।"

    ....

    सबक हमेशा के लिए सत्ता को मिल जाय।
    ये चाहे तो चढ़ा दे, चाहे देत मिटाय।।

    उत्तर देंहटाएं
  10. ♥ गांधी टोपी देखकर, सहम गये सरदार।
    अन्ना के आगे झुकी, अभिमानी सरकार।♥
    वाह बहुत खूब गाँधी जी के दर्शन हो गए है इस बार शयद सरकार को,
    ♥ ♥ सार्थक रचना के लिए बधाई स्वीकार करें .......आभार ♥ ♥

    Sahmat .

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत सुन्दर कविता है शास्त्री जी.

    उत्तर देंहटाएं
  12. जनता को दो पार्टी सिस्टम के लिए भी लड़ना चाहिए...सब विरोधी विचार धारा वाले मिल कर सरकार बना लेते हैं...और जवाबदेही किसी की नहीं...बेहतरीन दोहे...

    उत्तर देंहटाएं
  13. desh kee vartmaan sthiti par dohe sateek siddh ho rahe hain. samasaamayik rachna ke liye aabhar.

    उत्तर देंहटाएं
  14. सत्य को उजागर करते प्रभावशाली दोहे!!!!

    सादर!

    उत्तर देंहटाएं
  15. शास्त्री जी , मौजूदा हालातों पर सही दोहे लिखे हैं ।

    उत्तर देंहटाएं
  16. आज के दृश्य को दिखाते अच्छे दोहे ..

    उत्तर देंहटाएं
  17. नेताओं को तो यमराज का अवतार सा दिख रहा है अन्ना में।
    ऐसा करके केंद्र सरकार विरोधियों को अवसर दे रही है।

    उत्तर देंहटाएं
  18. बहुत उम्दा...बढ़िया रचा..

    उत्तर देंहटाएं
  19. बहुत अच्‍छी पोस्‍ट .. आपके इस पोस्‍ट की चर्चा अन्‍ना हजारे स्‍पेशल इस वार्ता में भी हुई है .. असीम शुभकामनाएं !!

    उत्तर देंहटाएं
  20. आपकी कविता बहुत अच्‍छी है लेकिन सिंहासन पर प्रजा ही राजा को बैठाय। यही भ्रम तो वर्तमान सरकार को हो रहा है कि वह राजा है। जबकि उसे केवल पाँच वर्ष के लिए जनता के लिए व्‍यवस्‍था देने का कार्य सौंपा गया है।

    उत्तर देंहटाएं
  21. शासन में जब बढ़ गया, ज्यादा भ्रष्टाचार।
    तब अन्ना ने ले लिया, गाँधी का अवतार।२।
    गांधी टोपी देखकर, सहम गये सरदार।
    अन्ना के आगे झुकी, अभिमानी सरकार।३।

    Very inspiring couplets.

    .

    उत्तर देंहटाएं
  22. waah kya ahinsak tamacha mara hai aapne bhrast sarkaar ke gaal par..

    उत्तर देंहटाएं
  23. बेहद प्रभावशाली ... लाजवाब दोहे शास्त्री जी ... आज के माहोल को सही दिशा देते हुवे ...

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails