"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

शुक्रवार, 12 अगस्त 2011

"गीत-..आया राखी का त्यौहार" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

आया राखी का त्यौहार!!
हरियाला सावन ले आया, ये पावन उपहार।
अमर रहा है, अमर रहेगा, राखी का त्यौहार।।
आया राखी का त्यौहार!!

जितनी ममता होती है, माता की मृदु लोरी में,
उससे भी ज्यादा ममता है, राखी की डोरी में,
भरा हुआ कच्चे धागों में, भाई-बहन का प्यार।
अमर रहा है, अमर रहेगा, राखी का त्यौहार।।
आया राखी का त्यौहार!!

भाई को जा करके बाँधें, प्यारी-प्यारी राखी,
हर बहना की यह ही इच्छा राखी के दिन जागी,
उमड़ा है भगिनी के मन में श्रद्धा-प्रेम अपार!
अमर रहा है, अमर रहेगा, राखी का त्यौहार।।
आया राखी का त्यौहार!!

खेल-कूदकर जिस अँगने में, बीता प्यारा बचपन,
कैसे याद भुलाएँ उसकी, जो मोहक था जीवन,
कभी रूठते और कभी करते थे, आपस में मनुहार।
अमर रहा है, अमर रहेगा, राखी का त्यौहार।।
आया राखी का त्यौहार!!

गुज़रे पल की याद दिलाने, आई बहना तेरी,
रक्षा करना मेरे भइया, विपदाओं में मेरी,
दीर्घ आयु हो हर भाई की, ऐसा वर दे दो दातार।
अमर रहा है, अमर रहेगा, राखी का त्यौहार।।
आया राखी का त्यौहार!!

आज किसी भी भाई की, ना सूनी रहे कलाई,
पहुँचा देना मेरी राखी, अरे डाकिए भाई,
बहुत दुआएँ दूँगी तुझको, तेरा मानूँगी उपकार!
अमर रहा है अमर रहेगा, राखी का त्यौहार!!
आया राखी का त्यौहार!!

25 टिप्‍पणियां:

  1. rakhi ke paawan tyohaar par shaandar tohfa diya hai aapne is geet ke roop men

    उत्तर देंहटाएं
  2. रक्षाबन्धन के पावन पर्व पर हार्दिक शुभ कामनाएं आपको.
    बहुत सुन्दर प्रस्तुति है आपकी.
    निश्छल निश्छल,निर्मल निर्मल.

    उत्तर देंहटाएं
  3. सुन्दर गीत...
    राखी की सादर बधाईयाँ...

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत ही सुन्दर गीत, रक्षाबंधन पर्व की हार्दिक शुभकामनायें.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  5. एक बार फिर शास्त्री जी आपने फ़ॉर्म में नज़र आ रहे हैं इस रचना में।
    आज इस पावन पर्व के अवसर पर बधाई देता हूं और कामना करता हूं कि आपकी कलाई पर बंधा रक्षा सूत्र हर समय आपकी रक्षा करें।

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत ही सुन्दर , शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत ही भावविभोर कर गयी आपकी कविता। सच है कि राखी की डोर की कोई कीमत नहीं।

    उत्तर देंहटाएं
  8. राखी की शुभकामनायें....
    meri taraf sse mitha
    daily milk

    उत्तर देंहटाएं
  9. हरियाला सावन ले आया, ये पावन उपहार।
    अमर रहा है, अमर रहेगा, राखी का त्यौहार।।
    आया राखी का त्यौहार!!सुन्दर भाव गीत ,ये धागे प्रेम के बुरी नजर से ता -उम्र आपको बचाए रहें .आभार आपकी ब्लोगिया दस्तक का .
    कृपया यहाँ भी दस्तक दें -
    http://www.blogger.com/post-edit.g?blogID=232721397822804248&postID=५९१०७८२०२६८३८३४०६२१
    HypnoBirthing: Relax while giving birth?
    http://kabirakhadabazarmein.blogspot.com/
    व्हाई स्मोकिंग इज स्पेशियली बेड इफ यु हेव डायबिटीज़ ?
    रजोनिवृत्ती में बे -असर सिद्ध हुई है सोया प्रोटीन .(कबीरा खडा बाज़ार में ...........)
    Links to this post at Friday, August 12, 2011

    उत्तर देंहटाएं
  10. अमर रहा है अमर रहेगा राखी का त्योहार....
    बहत ही सुन्दर और मन को छु लेने वाली रचना
    आपको रक्षा बंधन की बहुत -बहुत शुभकामनायें ....

    उत्तर देंहटाएं
  11. रक्षाबंधन पर बहुत अच्छा और सामयिक गीत.
    इस पावन पर्व की हार्दिक बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  12. आपको भी रक्षाबन्धन एवं स्वतन्त्रतादिवस की बहुत-बहुत बधाई बधाई हो!...आप बहुत सुन्दर एवम स्पष्ट विचारों से भरपूर लेखन कर रहे हैं....इसके लिये भी बहुत बधाई स्वीकार करें.

    उत्तर देंहटाएं
  13. सुन्दर गीत ...
    शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  14. उम्दा रचना.....रक्षाबंधन की शुभकामनाएँ....

    उत्तर देंहटाएं
  15. रक्षाबंधन और स्वंतत्रता दिवस पर ढेर सारी शुभकामनायें.

    उत्तर देंहटाएं
  16. जितनी ममता होती है, माता की मृदु लोरी में,
    उससे भी ज्यादा ममता है, राखी की डोरी में, --

    ---भैया अच्छा है ---पर माँ की जग जाहिर ममता की तो बेईज्ज़ती करके रखदी ...

    उत्तर देंहटाएं
  17. श्याम गुप्त जैसा हृदयहीन भाई बहिन की ममता और राखी के महत्व को क्या समझेगा!
    --
    मानसिक इलाज की जरूरत है श्याम गुप्त को!

    उत्तर देंहटाएं
  18. aapko Rakshabandhan aur Swatantrata diwas ki hardik badhaayee..

    Anna ke aandolan ko samarthan dey taaki ye desh purn roop se aazaad ho sake..

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails