"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

रविवार, 4 सितंबर 2011

"शिक्षक दिवस" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")


 
आता है शिक्षक दिवस, एक साल के बाद।
गुरुओं के सम्मान की, हमें दिलाने याद।।

सर्वपल्ली को आज हम, करते नमन हजार।
जिसने शिक्षक दिन दिया, भारत को उपहार।।

धन्य हुए गुरुजन सभी, पाकर यह सौगात।
आओ सब मिल कर करें, अध्यापक की बात।।

जो कहलाता था कभी, प्रभु से अधिक महान।
घटा आज क्यों देश में, शिक्षक का सम्मान।।

अध्यापकदिन पर सभी, गुरुवर करें विचार।
बन्द करें अपने यहाँ, ट्यूशन का व्यापार।।

छात्र और शिक्षक अगर, सुधर जाएँगे आज।
तो फिर से हो जाएगा, उन्नत देश-समाज।। 

36 टिप्‍पणियां:

  1. जो व्यापारी हो, वह शिक्षक होगा, परन्तु गुरु कभी नहीं | आदरणीय श्री राधाक्रिशानन जी को प्रणाम

    उत्तर देंहटाएं
  2. धन्य हुए गुरुजन सभी, पाकर यह सौगात।
    आओ सब मिल कर करें, अध्यापक की बात।।
    बहुत सुन्दर और सटीक पंक्तियाँ! शिक्षक दिवस पर शानदार प्रस्तुती! बहुत बहुत बधाई!

    उत्तर देंहटाएं
  3. शिक्षक दिवस पर शानदार प्रस्तुती! बहुत बहुत बधाई!

    उत्तर देंहटाएं
  4. शिक्षक दिवस पर मैं अपने सभी शिक्षकों का पुण्य स्मरण करते हुए नमन करता हूँ |
    भगवान् उन सब को दीर्घजीवी बनाये ... ताकि वह सब ज्ञान का प्रकाश दूर दूर तक पंहुचा सकें |

    उत्तर देंहटाएं
  5. जो कहलाता था कभी, प्रभु से अधिक महान।
    घटा आज क्यों देश में, शिक्षक का सम्मान।।
    sarthak abhivyakti...

    उत्तर देंहटाएं
  6. शिक्षा के व्यवसायीकरण के मध्य आपकी यह रचना आनंद की अनुभूति लेकर आई है!!

    उत्तर देंहटाएं
  7. छात्र और शिक्षक अगर, सुधर जाएँगे आज।
    तो फिर से हो जाएगा, उन्नत देश-समाज।।
    sahi kaha aapne shastri ji aapne.

    उत्तर देंहटाएं
  8. पितृ ऋण, मातृ-ऋण की तरह गुरु - ऋण उतारने के लिये क्या किया जा सकता है जिससे हमारे गुरुओं को पूर्व की तरह हम सम्मान दिला सकें ???????? कुछ प्रश्न मैंने अपनी पोस्ट में खड़े किये हैं कृपया समाधान करें...

    उत्तर देंहटाएं
  9. Nice post .

    अध्यापक दिन पर सभी, गुरुवर करें विचार।
    बन्द करें अपने यहाँ, ट्यूशन का व्यापार।।

    उत्तर देंहटाएं
  10. शिक्षक दिवस पर ढेर सारी बधाईयाँ सर , उन दोहों का साभार सम्मान ......../

    उत्तर देंहटाएं
  11. शिक्षक यदि जागरूक हो जए तो देश को नवीन राह पर चला सकता है। शिक्षक दिवस पर बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत - बहुत आभार गुरुजनों का ||

    सादर प्रणाम ||

    सुन्दर प्रस्तुति के लिए आपको बधाई ||

    उत्तर देंहटाएं
  13. धन्य हुए गुरुजन सभी, पाकर यह सौगात।
    आओ सब मिल कर करें, अध्यापक की बात।।
    बहुत सुन्दर और सटीक पंक्तियाँ! शिक्षक दिवस पर शानदार प्रस्तुती! बहुत बहुत बधाई!

    उत्तर देंहटाएं
  14. इस सवाल पर ग़ौर करने वालों ने ‘ब्लॉगर्स मीट वीकली 7‘ में एक ख़ास शख्सियत से रू ब रू कराया है और ...
    मेहनत से लिखी गई पोस्ट के लिए हार्दिकं बधाई.

    ब्लॉगर्स मीट वीकली (7) Earn Money online

    उत्तर देंहटाएं
  15. बहुत सुन्दर प्रस्तुति।
    शिक्षक दिवस की शुभकामनायें.

    उत्तर देंहटाएं
  16. शिक्षक दिवस की शुभकामनायें.....
    बहुत सुन्दर और सटीक पंक्तियाँ....

    उत्तर देंहटाएं
  17. शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ सर।

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  18. प्रेरक दोहे.शिक्षक दिवस की शुभकामनायें.

    उत्तर देंहटाएं
  19. शिक्षक दिवस पर प्रणाम और हार्दिक शुभ कामनाएं |
    आशा

    उत्तर देंहटाएं
  20. पहली कक्षा की शिक्षिका--
    माँ के श्रम सा श्रम वो करती |
    अवगुण मेट गुणों को भरती |
    टीचर का एहसान बहुत है --
    उनसे यह जिंदगी संवरती ||


    माँ का बच्चा हरदम अच्छा,
    झूठा बच्चा फिर भी सच्चा |
    ठोक-पीट कर या समझाकर-
    बना दे टीचर सच्चा-बच्चा ||


    लगा बाँधने अपना कच्छा
    कक्षा दो में पहुंचा बच्चा |
    शैतानी में पारन्गत हो
    टीचर को दे जाता गच्चा ||

    उत्तर देंहटाएं
  21. shikshak diwas par saarthak rachna prastuti ke liye aabhar..
    shikshak diwas kee aapko bhi bahut bahut haardik shubhkamnayen..

    उत्तर देंहटाएं
  22. बहुत सुन्दर और सटीक पंक्तियाँ|शिक्षक दिवस की शुभकामनायें|

    उत्तर देंहटाएं
  23. ना तो अच्छे गुरु रहे,ना ही अच्छे शिष्य.
    कौन सँवारे किस तरह,बच्चे तेरा भविष्य.

    उत्तर देंहटाएं
  24. बहुत बढ़िया रचना शास्त्री जी | रचना के माध्यम से बहुत बातें बताई |

    उत्तर देंहटाएं
  25. सुन्दर दोहों में शिक्षक दिवस.... वाह..
    शिक्षक दिवस की विलंबित सादर बधाईयाँ...

    उत्तर देंहटाएं
  26. आपकी यह बेहतरीन रचना बुधवार 05/09/2012 को http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जाएगी. कृपया अवलोकन करे एवं आपके सुझावों को अंकित करें, लिंक में आपका स्वागत है . धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  27. शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएँ!

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails