"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

शुक्रवार, 8 जुलाई 2011

"Beauty by John Masefield" अनुवादक - डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"

Beauty  by 

John Masefield 

अनुवादक ः डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"

सौंदर्य जॉन मेसफील्ड

प्रातःकालीन वेला में
और
सायंकाल
सूर्यास्त के समय
पहाड़ियों की उत्तुंग चोटी पर
समीर
अपना मस्त राग गा रहा है
ऐसा प्रतीत होता है
मानो स्पेन
अपनी पुरानी
सुरीली धुनों को 
छेड़ रहा हो!

बसन्त ऋतु में
जब मेहनती महिलाएँ
नरम-नरम घास के
गट्ठरों को
अपनी पीठ पर 
लादकर चलतीं हैं
तो ऐसा लगता है
मानों अप्रैल में 
बारिश की बून्दें
गुनगुना रहीं हो !

जहाजों में 
धवल पाल के नीचे
लदे हुए फूल
जब गुनगुनाते हैं
तो ऐसा लगता है
मानों
सागर 
पुराने नगमें सुना रहा हो!

मैं ईश्वर से
पूछता हूँ
सौन्दर्य क्या है?
तो मौन में से
उत्तर आता है-
प्रेयसी के बाल,
उसकी आँखें,
उसके ओंठ,
और उनसे निकली
मधुर ध्वनि
यही तो 
सबसे बड़ा सौन्दर्य है  
 
John Masefield
(1878 - 1967)

18 टिप्‍पणियां:

  1. और सौंदर्य बसता है - देखने वाले की स्वीकृति भरी नज़र में | क्योंकि सुन्दर तो तभी कुछ लग सकता है - जिसे एक सुन्दर मन - सुन्दर मानने को राजी हो | नहीं तो - कुछ लोग तो कृष्ण और राम में भी कुरूपता ढूंढ लेते हैं , और कोई कुब्जा को भी परम सुंदरी मान लेते हैं | किसी को गुलाब दीखते हैं - किसी को कांटे |
    एक बात है - जिसकी नज़र में सुन्दरता, करुणा व प्रेम हो, वह एक सुन्दर जगत में प्रसन्नता से जीता है - और जो अभागे असुन्दरता और कमियां खोजते रह जाते हैं - वे एक असुंदर दुनिया में स्वयं ही कैद हो कर तड़पते रहते हैं |
    यह कविता भी बहुत सुन्दर है - और अनुवाद भी बहुत सुन्दर हुआ है ... आपको बधाईयाँ |

    उत्तर देंहटाएं
  2. आज बारिश का मौसम है, ये रचना मौसम के अनुरुप है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत सुन्दर अनुवाद..आभार

    उत्तर देंहटाएं
  4. बड़ी देर से खुला हुआ था शाम से पर आराम से अभी देख रहा हूं मूल भाषा का ले्ख भी साथ मे रहना चाहिये तभी आपकी खूबी और मेहनत सामने आ पायेगी वरन लोग सामान्य कविता की तरह ही पढ़ जायेंगे ऐसा अनुवाद कविता मे दुरूह है आपको बहुत बहुत साधुवाद

    उत्तर देंहटाएं
  5. आदरणीय शाश्त्री जी प्रस्तुत है मूल कविता... बस एक बात कहना चाहूँगा कि आपका अनुवाद उत्कृष्ट है...किन्तु अच्छा होता यदि अनुवाद भी मूल कविता के मीटर में होता.... इसका राइम पैटर्न abab abab है.... आप जिसतरह मीटर में लिखते हैं आपके लिए बहुत आसान था.... फिर भी बढ़िया अनुवाद है...
    Beauty

    I HAVE seen dawn and sunset on moors and windy hills
    Coming in solemn beauty like slow old tunes of Spain:
    I have seen the lady April bringing the daffodils,
    Bringing the springing grass and the soft warm April rain.

    I have heard the song of the blossoms and the old chant of the sea,
    And seen strange lands from under the arched white sails of ships;
    But the loveliest thing of beauty God ever has shown to me,
    Are her voice, and her hair, and eyes, and the dear red curve of her lips.

    उत्तर देंहटाएं
  6. सुंदर रचना का बहुत प्रभावित करता अनुवाद .

    उत्तर देंहटाएं
  7. वाह क्या खूब अनुवाद किया है………॥बहुत सुन्दर

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत अच्छी रचना का बहुत बढ़िया अनुवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  9. credit cads, uk credit counseling. approved personal loans, [url=http://lowcreditpersonalloans.com/content/personal-loans-key-quick-cash-flow]homeloan rates[/url]. internal audit credit cards, swimming pool financing bad credit ok.

    उत्तर देंहटाएं
  10. [url=http://buypropeciaonlinerx.com/#19178]buy generic propecia[/url] - buy generic propecia , http://buypropeciaonlinerx.com/#5645 buy propecia

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails