"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

मंगलवार, 17 मई 2011

"मेरी माता-बालगीत" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")



चाट-चाट कर सहलाती है।
करती जाती प्यारी बातें।
खुश होकर करती है अम्मा,
मुझसे कितनी सारी बातें।।
बहुत चाव से दूध पिलाती,
बिन मेरे वो रह नहीं पाती,
सीधी सच्ची मेरी माता,
सबसे अच्छी मेरी माता,
ममता से वो मुझे बुलाती,
करती सबसे न्यारी बातें।
खुश होकर करती है अम्मा,
मुझसे कितनी सारी बातें।।
दुनियादारी के सारे गुर,
मेरी माता मुझे बताती,
हरी घास और भूसा-तिनका,
खाना-खाना भी बतलाती,
जीवन यापन करने वाली,
सिखलाती गुणकारी बातें।
खुश होकर करती है अम्मा,
मुझसे कितनी सारी बातें।।

23 टिप्‍पणियां:

  1. सुन्दर कविता, वैसे तो चित्र देखकर मन प्रसन्न हो गया था।

    उत्तर देंहटाएं
  2. चित्रमय बहुत सुन्दर बाल गीत्।

    उत्तर देंहटाएं
  3. चित्रमय गीत और वह भी बाल मनोभावों को उकेरता हुआ . बहुत सुंदर लिखा.

    उत्तर देंहटाएं
  4. गौमाता और उसके वत्‍स के साथ कविता करना और चित्रों में साक्षात प्रदर्शित करने से सोने में सुहागा हो गया है।

    उत्तर देंहटाएं
  5. माताएँ तो सारी एक सी होती हैं ... प्यारी दुलार करती हुई .... सुंदर चित्रों से सजी मोहक रचना ...

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत सुन्दर चित्र मन प्रसन्न हो गया था।
    आभार इस प्रस्तुति के लिए

    उत्तर देंहटाएं
  7. चाट-चाट कर सहलाती है।करती जाती प्यारी बातें।खुश होकर करती है अम्मा,मुझसे कितनी सारी बातें।
    ....कोमल भावों से सजी

    उत्तर देंहटाएं
  8. सहज मोह लेने वाली कविता मेरे पुत्र को यह बेहद भायेगी

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत बढ़िया...बहुत खूब
    आपकी ये सादगी भा गई भाई जी
    इतने सीधे शब्दों में आपने बहुत कुछ बता दिया
    बचपन के साथ साथ ...जीवन का सच भी सामने है
    समझने वाले समझ गए ....जो ना समझे वो........

    उत्तर देंहटाएं
  10. bachchon ka to maja aajayega itni suder schitra kavita padhkar.insaan ho ya janwer maa ki bhaavnayen ek jaisy hoti hain.bahut uttam likha.

    उत्तर देंहटाएं
  11. बालमन में सम्वेदनाएँ जगाती, अतिभावपूर्ण बाल कविता।

    चित्र ममता जगाते है।

    आपके पवित्र भावों को प्रणाम

    उत्तर देंहटाएं
  12. bahut pyara geet babu ji...bachpan ki yaad dila gaya...aabhar

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत सुंदर कविता और प्यारे चित्र

    उत्तर देंहटाएं
  14. सबसे अच्छी मेरी माता...

    उत्तर देंहटाएं
  15. बहुत सुन्दर प्रस्तुति.धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  16. बहुत सुन्दर मोह लेने वाले भाव भरी कविता

    उत्तर देंहटाएं
  17. पति द्वारा क्रूरता की धारा 498A में संशोधन हेतु सुझावअपने अनुभवों से तैयार पति के नातेदारों द्वारा क्रूरता के विषय में दंड संबंधी भा.दं.संहिता की धारा 498A में संशोधन हेतु सुझाव विधि आयोग में भेज रहा हूँ.जिसने भारतीय दंड संहिता की धारा 498-ए के दुरुपयोग और उसे रोके जाने और प्रभावी बनाए जाने के लिए सुझाव आमंत्रित किए गए हैं. अगर आपने भी अपने आस-पास देखा हो या आप या आपने अपने किसी रिश्तेदार को महिलाओं के हितों में बनाये कानूनों के दुरूपयोग पर परेशान देखकर कोई मन में इन कानून लेकर बदलाव हेतु कोई सुझाव आया हो तब आप भी बताये.

    उत्तर देंहटाएं
  18. मेरी अम्मा ही हैं जिनसे है औरों का नाता,
    सारा जग इसलिए बुलाता अम्मा को गौमाता !

    सुंदर ,सजीव प्रस्तुति !

    उत्तर देंहटाएं
  19. वाह, बहुत ही सुन्दर कविता...

    उत्तर देंहटाएं
  20. बहुत सुन्दर,बहुत प्यारी पोस्ट है आपकी.
    माँ की ममता का आनंद आपने इस पोस्ट में लुटा दिया है शास्त्रीजी.
    बहुत बहुत आभार.

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails