"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

गुरुवार, 9 अप्रैल 2009

"ये गप नही है।" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)


माया और मेनका, एक सिक्के के दो पहलू।


एक राशि, एक लक्ष्य और दोनों ही शक्तिशाली महिलायें।


यह कैसा संयोग है कि एक दूसरे को दोनों ही,

फूटी आँख भी नही सुहाती।


बलि का बकरा वरुण को बनाया गया।


माया की एक छोटी सी भूल ने,

वरुण को अन्तर्राष्ट्रीय नेता बना दिया।


कहाँ गये माया जी! आपके दिग्गज सलाहकार?


इस भूल पर तो आपको पछताना ही होगा।


आपके तो विधायक और मन्त्री तक कातिल बने,

जेल की सलाखों के पीछे हैं।


क्या उनसे भी बड़ा था गुनाह वरुण गांधी का था?????


10 टिप्‍पणियां:

  1. बड़ी मसूमियत से प्रश्न को उछाला है।
    शास्त्री जी!

    जवाब देंहटाएं
  2. मयंक जी!
    पानी का तैराक पानी मे ही डूब जाता है।

    जवाब देंहटाएं
  3. सच्ची बात।
    अच्छी बात।
    बधाई।

    जवाब देंहटाएं
  4. गल्ती माया की,
    खमियाजा भरना पड़ेगा।

    जवाब देंहटाएं
  5. राजनीति की गोटी उलटी फिट हो गयी।
    गल्ती गले की हड्डी बन गयी।

    जवाब देंहटाएं
  6. शास्त्री जी!
    ये गप नही है,
    सच्ची बात मन को भा गयी।
    मुबरकवाद।

    जवाब देंहटाएं
  7. यह रहस्य गूढ़ तो न थे पर रचना बन गये बहुत अच्छा लगा!

    जवाब देंहटाएं
  8. bechare varun ? apane bayan par bhi kayam nahi hai. kahte hai" maine ye bayan diya hi nahi. to varun hame ye batao sach me apne kya kaha hai tumhari to na ugalte banti hai na nigalte.beta bali ka bakra bana diya tumhe. ab tumhara hal pramod mahajan ke bete rahul jaisa hoga.

    जवाब देंहटाएं
  9. shastri ji

    main bhi bahut dino se yahi soch rahi thi ki varun ko to bali ka bakra banaya gaya hai aur aaj aapne wo hi baat kavita mein kah di.
    bahut sadgi se aapne ek satya ko ujagar kiya hai...........vaise yahi rajniti hai jahan apne matlab ke liye kuch bhi kiya ja sakta hai.

    जवाब देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails