"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

फ़ॉलोअर

शुक्रवार, 15 फ़रवरी 2013

"आ गया बसन्त है" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

आरती उतार लो,
आ गया बसन्त है!
ज़िन्दग़ी सँवार लो
आ गया बसन्त है!

खेत लहलहा उठे,
खिल उठी वसुन्धरा,
चित्रकार ने नया,
आज रंग है भरा,
पीत वस्त्र धार लो,
आ गया बसन्त है!
ज़िन्दग़ी सँवार लो
आ गया बसन्त है!

शारदे के द्वार से,
ज्ञान का प्रसाद लो,
दूर हों विकार सब,
शब्द का प्रसाद लो,
धूप-दीप साथ ले
आरती उतार लो!
आ गया बसन्त है!
ज़िन्दग़ी सँवार लो
आ गया बसन्त है!

माँ सरस्वती से आज,
बिम्ब नये माँग लो,
वन्दना के साथ में,
भाव नये माँग लो,
मातु से प्रवाह की
अमल-धवल धार लो।
आ गया बसन्त है!
ज़िन्दग़ी सँवार लो
आ गया बसन्त है!

27 टिप्‍पणियां:

  1. साब बहुत ही सुन्दर कविता | बहुत बहुत आभार और आपको भी बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनायें | बधाई |

    Tamasha-E-Zindagi
    Tamashaezindagi FB Page

    जवाब देंहटाएं
  2. वसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाए...

    जवाब देंहटाएं
  3. आपने बसंत का बहुत अच्छा चित्रण किया है !!

    जवाब देंहटाएं
  4. बसन्त पंचमी की शुभकामनाये....बहुत सुन्दर चित्रण सुन्दर प्रस्तुति....

    जवाब देंहटाएं
  5. बहुत सुन्दर कविता !
    आपको सपरिवार बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएँ !:-)
    ~सादर!!!

    जवाब देंहटाएं
  6. बसंतोत्सव की हार्दिक शुभकामनाएं.

    रामराम.

    जवाब देंहटाएं
  7. बसंत पंचमी की अनंत शुभकामनाएँ

    जवाब देंहटाएं
  8. हृदयस्पर्शी भावपूर्ण प्रस्तुति.बधाई .बसंत पंचमी की अनंत शुभकामनाएँ

    जवाब देंहटाएं
  9. बसंत के आगमन की शुभकामनाएँ

    जवाब देंहटाएं
  10. सुन्दर कविता, सुन्दर चित्रण, बसंतोत्सव की हार्दिक शुभकामनाएं.

    जवाब देंहटाएं
  11. जनभावनाओं से प्रेरित सौद्देश्य वसंत गीत .

    जवाब देंहटाएं
  12. जनभावनाओं से प्रेरित सौद्देश्य वसंत गीत .शुक्रिया हमें शनिवार चर्चा मंच में शरीक करने का .

    जवाब देंहटाएं
  13. बसन्त पंचमी की हार्दिक शुभ कामनाएँ!


    दिनांक 16 /02/2013 को आपकी यह पोस्ट http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जा रही हैं.आपकी प्रतिक्रिया का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    जवाब देंहटाएं
  14. बढ़िया प्रस्तुति गुरु जी-

    आभार एवं

    सादर नमन-

    जवाब देंहटाएं
  15. puri jankari deti hui rachna Guru ji,aapko basant ki shubhkaamnayen

    जवाब देंहटाएं
  16. बसन्त पंचमी की हार्दिक शुभ कामनाएँ!सुन्दर चित्रण

    जवाब देंहटाएं
  17. बहुत सुंदर
    बसंती कविता !
    वसंत पंचमी पर हार्दिक शुभकामनाए!

    जवाब देंहटाएं
  18. बहुत सुंदर कविता , शुभकामनाए !

    जवाब देंहटाएं
  19. अति सुन्दर रचना...
    शुभकामनाएँ...
    :-)

    जवाब देंहटाएं
  20. सरस्वती पूजन का पर्व मंगलमय हो ...सादर !
    .

    जवाब देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails