"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

फ़ॉलोअर

रविवार, 2 अगस्त 2009

‘‘जिसको चाहो गले से लगा लीजिए‘‘ (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)



हार भी है यहीं, जीत भी है यहीं,
जिसको चाहो उसी का मजा लीजिए।

शत्रु भी हैं यहीं, मीत भी है यही,
जिसको चाहो गले से लगा लीजिए।।

दिल में बहने लगें भाव जब आपके,
गीत और छन्द को तब सजा लीजिए।
जिसको चाहो गले से लगा लीजिए।।

दोस्ती में बहुत बन्दिशें है भरी,
दुश्मनी एक पल में बजा लीजिए।
जिसको चाहो गले से लगा लीजिए।।

नेक कामों का फल देर से आयेगा,
देखना है मजा तो दगा कीजिए।
जिसको चाहो गले से लगा लीजिए।।

13 टिप्‍पणियां:

  1. umdaa rachnaa
    aanand dene waali rachnaa
    uttam bhaav se bharee racnaa
    _______is rachnaa ka abhinandan !

    जवाब देंहटाएं
  2. सर, एक बार अपनी ध्वनि में सुनाइये तो और अच्छा लगेगा.

    जवाब देंहटाएं
  3. वाह..वाह...
    बहुत गजब का लिखा है मान्यवर!
    बधाई हो।

    जवाब देंहटाएं
  4. बेहतरीन शायरी।
    मुबारकवाद।

    जवाब देंहटाएं
  5. बहुत खूब....

    जहाँ न पहुँचे रवि,
    वहाँ पहुँचे कवि।

    जवाब देंहटाएं
  6. मयंक जी!
    इस सुन्दर गजल के लिए बधाई।

    जवाब देंहटाएं
  7. अत्यन्त सुंदर रचना! बहुत अच्छा लगा!

    जवाब देंहटाएं
  8. बहुत ही सुन्‍दर प्रस्‍तुति आभार्

    जवाब देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails