"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

समर्थक

सोमवार, 15 जून 2009

बिटिया की महिमा अनन्त है,


किलकारी की गूँज सुनाती,
परिवारों को यही बसाती।
नारी नर की खान रही है,
जन-जन का अरमान रही है।
बिटिया की महिमा अनन्त है,
इससे ही घर में बसन्त है।

10 टिप्‍पणियां:

  1. सच्ची अभिव्यक्ति । परिवार में बेटी की भूमिका महत्वपूर्ण है । आभार ।

    जवाब देंहटाएं
  2. बहुत सुंदर बात कहि आपने.

    रामराम.

    जवाब देंहटाएं
  3. BAHUT KHUB LIKHTE HO.
    MUJHE TO SCHOOL KE LIYE EN KAVITAO KO BACHCHO KO SIKHANE KE LIYE AAPKI ANUAMTI CHAHIYE JANAB.

    RAMESH SACHDEVA
    DIRECTOR,
    HPS DAY-BOARDING SENIOR SECONDARY SCHOOL,
    "A SCHOOL WHERE LEARNING & STUDYING @ SPEED OF THOUGHTS"
    SHERGARH (M.DABWALI)-125104
    DISTT. SIRSA (HARYANA) - INDIA
    HERE DREAMS ARE TAKING SHAPE
    +91-1668-230327, 229327
    www.haryanapublicschool.wordpress.com

    जवाब देंहटाएं
  4. बहुत ही सुन्‍दर अभिवयक्ति

    आभार

    जवाब देंहटाएं
  5. बहुत सही कहा है बिटिया की महिमा से बाखूबि वकिफ हून सुन्दर रचना के लिये बधाई

    जवाब देंहटाएं
  6. वो घर भी क्या घर है,
    जहां बेटियां न हों.
    सुन्दर रचना.

    जवाब देंहटाएं
  7. सत्य वचन!!बिटिया की महिमा अनन्त!

    जवाब देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails