"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

बुधवार, 1 जुलाई 2009

‘‘वि़द्यालय से नाता जोड़ो’’ (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)





सुस्ती, मस्ती, आलस छोडो़।

विद्यालय से नाता जोड़ो।


गरमी ने कितना झुलसाया।

अब बारिश का मौसम आया।।

पुस्तक, बस्ता, पेन सम्भालो।

छोटा छाता एक मँगा लो।।


नित्य-प्रति विद्यालय जाओ।

पढ़ने में मन खूब लगाओ।।


होम-वर्क करना मत भूलो।

फिर अपने झूले पर झूलो।।



5 टिप्‍पणियां:

  1. मयंक जी लगता है आज बच्चों के स्कूल खुल गये हैं आपकी कलम कैसे ये क्षण छोड सकती है बहुत सुन्दर और सहज ढंग से फिसलते हुये इतना सुन्दर गीत लिख गयी बहुत बहुत बधाई

    जवाब देंहटाएं
  2. हां अब गर्मी की लंबी छुट्टियां बीत गई. पढने मे मन लगाना ही पडेगा.

    रामराम.

    जवाब देंहटाएं
  3. bahut sundar kavita, lekin bachchon ke man ko shayad hi bhaye! unhe to aur chhuttiyan chahiye!

    जवाब देंहटाएं
  4. [url=http://x-registar.ru]знакомства для интимной связи[/url] सिस्टम एक्स Registar ® ग्लोबल मानवतावादी परियोजना , आईटी के क्षेत्र में डॉक्टरों और विशेषज्ञों के सहयोग से एक है . परियोजना का उद्देश्य - एसटीडी की रोकथाम .

    जवाब देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails